फेसबुक पर आनंदपाल एनकाउंटर मामले में सनसनी फैलाने का प्रयास, आरोपी युवक गिरफ्तार

नागौर, सोशल मीडिया पर एक पोस्ट से छेड़छाड़ कर आनंदपाल एनकाउंटर मामले में सनसनी फैलाने के प्रयास का मामला सामने आया है. विवादित पोस्ट वायरल होने का पता चलने के कुछ ही देर बाद नागौर एसपी परिस देशमुख ने पोस्ट की पोल खोल दी. आरोपित युवक को देर रात गिरफ्तार भी कर लिया गया.

आरोपित वीर इंद्र सारण ने 24 जून को रात 8.57 बजे डाली पोस्ट में लिखा, आज हो सकती है आनंदपाल की गिरफ्तारी या एनकाउंटर. रात 10.22 बजे दूसरी पोस्ट में लिखा, कुछ ही देर में होगा आनंदपाल खाक. तैयारियां पूरी. एसओजी हरियाणा पुलिस के साथ राजस्थान पुलिस की टीम करेगी कार्रवाई. हरकत में आई पुलिस ने पोस्ट की हकीकत खंगाली. जांच में सामने आया कि आरोपित की पहली पोस्ट में मूल कमेंट ‘काश भारत में कोई शिवाजी दी बॉस पैदा हो जाए, शायद देश में भ्रष्टाचार खत्म हो जाए’ लिखा था. इसे रविवार सुबह एडिट कर एनकाउंटर से जोड़ दिया. इसी तरह दूसरी पोस्ट से छेड़छाड़ की गई.

एसओजी-एटीएस के एडीजी उमेश मिश्रा का कहना है कि स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (एसओजी) और राजस्थान पुलिस को पता था कि आनंदपाल से जिस दिन सामना हुआ, हथियार डालने की बजाय वह गोलियां बरसा सकता है. इसलिए ऐसी स्थिति के लिए एसओजी और पुलिस तैयार थी. मिश्रा ने बताया कि मामले में वैधानिकता और पारदर्शिता बरती गई. सीबीआई से जांच कराने का निर्णय सरकार के विशेषाधिकार का मामला है.