नितीश बोले-राष्ट्रपति चुनाव में ‘बिहार की बेटी’ का चयन हराने के लिए

पटना, राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार को लेकर बिहार में लालू और नीतीश दो अलग रास्तों पर है. ऐसे में लालू ने नीतीश से अपने फैसले को वापस लेने के लिए कहा है लेकिन नीतीश इस पक्ष में नहीं हैं. इस बीच उन्होंने शुक्रवार रात विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि क्या मीरा कुमार को हारने के लिए प्रत्याशी बनाया गया है. राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव की इफ्तार पार्टी के बाद मीडिया से मुखातिब नीतीश ने राष्‍ट्रपति पद के लिए मीरा कुमार की उम्‍मीदवारी को विपक्ष की बड़ी भूल बताया. उन्‍होंने कहा कि उन्‍हें (मीरा कुमार को) हारने के लिए उम्‍मीदवार बनाया गया है. नीतीश ने फिर दोहराया कि वे भाजपा के राष्‍ट्रपति प्रत्‍याशी रामनाथ कोविंद के साथ हैं. यह उनका सोचा-समझा फैसला है.

मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि रामनाथ काेविंद ने बिहार के राज्‍यपाल के रूप में निष्‍पक्षता के साथ सराहनीय कार्य किया है. बिहार के राज्‍यपाल सीधे राष्‍ट्रपति बनने जा रहे हैं. यह प्रसन्‍नता की बात है. इसपर सोच-समझकर जदयू ने उन्‍हें समर्थन दिया है.नीतीश ने कहा कि विपक्ष ने मीरा कुमार को हारने के लिए राष्‍ट्रपति प्रत्‍याशी बनाया है. विपक्ष को चाहिए कि वह 2019 के लोकसभा चुनाव की रणनीति बनाए और जीत दर्जकर मीरा कुमार को अगले राष्‍ट्रपति चुनाव का प्रत्‍याशी जीतने के लिए बनाए.

लालू के उस बयान पर, जिसमें उन्‍होंने नीतीश के फैसले को ‘ऐतिहासिक भूल’ बताया है, कहा कि यह उनकी सोच है. नीतीश ने इसपर प्रतिक्रिया व्‍यक्‍त करने से इन्‍‍कार कर दिया. नीतीश ने अपने फैसले को पार्टी विशेष का फैसला बताते हुए कहा कि इससे महागठबंधन की एकता पर कोई आंच नहीं आएगी.