शराब की लत एक बीमारी : इंडिया मेडिकल एसोशिएसन

हल्द्वानी, वर्ल्ड हैल्थ ऑर्गनाइजेशन, इंडिया मेडिकल एसोशिएसन, अमेरिकन मेडिकल एसोशिएसन तथा ब्रिटीश मेडिकल काउन्सिलिंग ने शराबी पीना या शराब की लत को एक बीमारी माना है. यह एक बढ़ती हुई जानलेवा बीमारी है. उक्त विचार एल्कोहोलिक्स एनॉनिमस् (ए.ए.) सदस्य एसके भल्ला ने पत्रकारों से वार्ता करते हुए व्यक्त किये. उन्होंने बताया कि एल्कोहोलिक्स एनॉनिमस एक विश्वव्यापी संस्था है. जो ऐसे सभी व्यक्तिविशेष जिनकी शराब से दूर रहने की इच्छा है उसकी निशुल्क मदद करती है.

यह संस्था ऐसे शराबियों द्वारा चलाई जाती है जो शराब से दूर है. संस्था दुनिया के 183 देशों में सफलता पूर्वक कार्य कर रही हैं. उन्होंने बताया कि दुनिया में करीब 30 लाख और भारत में लगभग 40 हजार से ज्यादा व्यक्तिजो शराबीपन की बीमारी से पीडित थे. उनकी मदद से अब शराब से दूर है.

संस्था की कार्य प्रणाली के तहत शराब की बीमारी से पीडित अपना अनुभव एक दूसरे के साथ साझा कर इस बीमारी से छुटकारा पाने का प्रयास करते है. संस्था की सदस्यता के लिए कोई शुल्क नहीं लिया जाता है. उन्होंने बताया कि संस्था द्वारा 25 जून को सुबह 11 बजे से विवेकानंद विद्या मंदिर काठगोदाम में एक जन जागृति सभा का भी आयोजन किया गया है.