विदेशी उपग्रह लॉन्चिंग में इसरो का दोहरा शतक

 
श्रीहरिकोटा, भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने शुक्रवार को 14 देशों के 29 विदेशी उपग्रहों को कक्षा में स्थापित करने के साथ ही 200 से अधिक विदेशी उपग्रहों को लॉन्च करने का आंकड़ा पूरा कर लिया है. इसरो ने शुक्रवार को ध्रुवीय उपग्रह प्रक्षेपण यान (पीएसएलवी) के जरिये 14 विभिन्न देशों- ऑस्ट्रिया, बेल्जियम, ब्रिटेन, चिली, चेक गणराज्य, फिनलैंड, फ्रांस, जर्मनी, इटली, जापान, लातविया, लिथुआनिया, स्लोवाकिया और अमेरिका के 29 नैनो उपग्रहों को कक्षा में स्थापित किया.

पीएसएलवी के साथ भेजे गए उपग्रहों में से मुख्य उपग्रह काटरेसैट-2 श्रृंखला का पृथ्वी अवलोकन उपग्रह है, जिसका वजन 712 किलोग्राम है. अन्य 30 नैनो उपग्रहों में भारत का उपग्रह एनआईयूएसएटी भी है.

 

इसरो की वाणिज्यिक शाखा एंट्रिक्स कॉर्प के अध्यक्ष व प्रबंध निदेशक एस. राकेश ने बताया कि शुक्रवार को लॉन्च किए गए उपग्रहों को छोड़कर इसरो अब तक 180 विदेशी उपग्रह लॉन्च कर चुका है.

 

इसरो ने 1999 में विदेशी उपग्रहों के प्रक्षेपण की शुरुआत की थी.