भाजपा सरकार के सौ दिन जनविरोधी : कांग्रेस

देहरादून,18 मार्च को भाजपा ने सूबे की कमान संभाली थी. 25 जून को भाजपा सरकार के 100 दिन पूरे होने जा रहे है. कांग्रेस ने भाजपा सरकार के इन 100 दिनों के काम-काज को जनविरोधी करार दिया है.कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि जब भाजपा सरकार प्रचंड बहुमत के साथ सत्ता में आई थी, तो कांग्रेस भाजपा सरकार को छह माह का समय देना चाहती थी. लेकिन भाजपा सरकार के कृत्यों से विवश हो कर कांग्रेस को सदन से लेकर सड़क तक मोर्चा खोलना पड़ा. भाजपा ने सत्ता में आने के लिए जनता से कई वायदे थे.

जिन पर भाजपा का विजन अभी तक दिखाई नहीं दिया. प्रीतम ने कहा कि भाजपा ने सत्ता में आते ही राज्य खाद्यान योजना को महंगा करने का काम किया. चुनाव में किसानों से भाजपा ने वायदा किया था कि ऋण माफ़ करने के साथ ही ब्याज मुक्त ऋण कराएगी और 15 दिन के अंदर गन्ना किसानों को बकाया भुगतान करेंगे. इन तीनों वायदे से भाजपा पीछे हटी है. प्रदेश में किसान आत्महत्या कर रहे हैं. प्रीतम ने कहा कि किसानों की हत्या पर भाजपा के नेता जो बयान दे रहे हैं, उसकी कांग्रेस निंदा करती है. प्रदेश में शराब माफिया हो या खनन माफिया दोनों ही हावी है. चारधाम यात्रा पर प्रीतम ने कहा कि यात्रा भगवान भरोसे चल. यात्रिओं को वाहन तक उपलब्ध नहीं हो पा रहे हैं. यात्रा मार्ग पर स्वास्थ्य सेवाओं का बुरा हाल है. केदारनाथ में हेली सेवाओं के टिकट ब्लैक किये जा रहे हैं. उन्होंने सरकार की कार्य शैली पर सवाल उठाते हुए कहा कि मंत्रियों में आपसी समन्वय नहीं है.

भाजपा सरकार पर जान विरोधी कार्य करने का आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा कि कांग्रेस भाजपा सरकार को चेताने का काम करेगी.देहरादून को स्मार्ट सिटी में शामिल करने पर प्रीतम सिंह ने कहा कि केंद्र में एनडीए की सरकार बनी. चुनाव के दौरान जो बातें नरेंद्र मोदी ने कही क्या उन पर अमल हुआ. प्रधानमंत्री ने जिस गांव को गोद लिया उसकी हालत जस की तस है. सांसदों ने जो गांव गोद लिए उनमें कितना विकास हुआ. उन्होंने भाजपा से सवाल करते हुए कहा कि क्या देहरादून 2019 से पहले स्मार्ट सिटी बन पायेगा. प्रीतम ने कहा कि जुमले बाज़ी से स्मार्ट सिटी नहीं बनते.