कोहली से नाराज़ गावस्‍कर बोले, सीएसी की क्‍या जरूरत, खुद ही चुन लें कोच

नई दिल्‍ली, टीम इंडिया के मुख्‍य कोच पद से अनिल कुंबले के इस्‍तीफा के बाद अब नया कोच कौन होगा, इस पर अलग-अलग नामों पर कयास लगाए जा रहे हैं. इस बीच भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्‍तान सुनील गावस्कर ने कहा है कि अगर कप्तान की ही पसंद इतनी मायने रखती है तो फिर क्रिकेट एडवाइजरी कमेटी (सीएसी) की क्‍या जरूरत है.

आपको बता दें कि बीसीसीआई की क्रिकेट सलाहकार समिति में सचिन तेंदुलकर, सौरव गांगुली और वीवीएस लक्ष्मण हैं और इन्हीं पर नए कोच का चुनाव करने की ज़िम्मेदारी है. लंदन में चैंपियंस ट्रॉफी के दौरान इन तीनों ने कोहली और कुंबले से मुलाकात की थी. मुलाकात के बाद तीनों ने अनिल कुंबले को ही टीम का कोच बनाए रखने का सुझाव दिया था. लेकिन सीएसी की बात को विराट कोहली ने नकार दिया.

कोहली के इस रवैये से सुनील गावस्कर काफी नाराज हुए. उन्‍होंने इतना तक कह दिया कि जब टीम के कप्तान की पसंद से ही कोच चुना जाना है तो फिर सीएसी की जरूरत क्‍या है. वेस्टइंडीज दौरे पर गए खिलाडि़यों और कप्तान कोहली से पूछ लें कि वे किसे कोच चाहते हैं. इससे काफी लोगों का समय बचेगा. इससे पहले भी गावस्‍कर अनिल कुंबले के पक्ष में बयान दे चुके हैं, उन्‍होंने कुंबले के इस्‍तीफे को भारतीय क्रिकेट का सबसे खराब दिन बताते हुए कहा था कि पिछले एक साल से कुंबले बतौर टीम कोच अपनी जिम्‍मेदारी अच्‍छे से निभा रहे थे. जब से कुंबले ने बतौर कोच टीम की कमान संभाली तब से भारतीय टीम ने अधिकतर मुकाबलों में जीत दर्ज की है.

उन्‍होंने कुंबले को भी सुझाव देते हुए कहा था कि उनहें सीएसी से इस बारे में बात करनी चाहिए थी. मुझे उम्‍मीद है कि वह सीएसी को अपने विश्‍वास में लेने में कामयाब होते और पहले से ज्‍यादा मजबूती के साथ कोच के पद पर बने रहते.