पिथौरागढ़ : 24 घंटो तक ग्लेशियर में दबे हुए ग्रामीण की मौत

पिथौरागढ़/नाशामर्ती (कर्सीला), सुवा गांव निवासी मदन सिंह (50) पुत्र रणजीत सिंह भेड़ों को चराने के लिए नाशामर्ती बुग्याल गए थे. 18 जून को वह नाशामर्ती में ग्लेशियर टूटने से उसकी चपेट में आकर दब गए.गांव के लोगों ने अगले दिन 19 जून को मदन सिंह को गंभीर हालत में बर्फ से बाहर निकाला और डोली में बैठाकर अस्पताल के लिए लाने लगे.

सोमवार रात जब लोग सोबला पहुंचे थे तो मदन सिंह ने दम तोड़ दिया.उसके शव का पुलिस ने मंगलवार को पंचनामा भरा और पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है.

पूर्व जिला पंचायत सदस्य आन सिंह रोकाया ने बताया कि उच्च हिमालयी बुग्यालों में इन दिनों तापमान बढ़ने के कारण ग्लेशियरों के टूटने का खतरा बढ़ा है.

भेड़पालक इन बुग्यालों में ही भेड़ों को चराने जाते है.उन्होंने मृतक के परिजनों को आपदा मद से राहत राशि देने की मांग की है.