धोनी-युवराज और अश्विन-जड़ेजा पर भी फैसला लेने का वक्त आ गया है : राहुल द्रविड़

पूर्व भारतीय क्रिकेट कप्तान राहुल द्रविड़ का मानना है कि भारत को 2019 में होने वाले विश्वकप के लिए अभी से तैयारी करनी होगी. ऐसे में भारत के लिए अब निर्णय लेन का समय आ गया है. द्रविड़ से जब युवराज और धोनी के भविष्य के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, ‘चयनकर्ताओं और प्रबंधन को इस पर फैसला करना होगा. उन्हें बताना होगा कि भारतीय क्रिकेट के लिए उनके दिमाग में क्या खाका है और वे अगले दो वर्षों में इन दोनों क्रिकेटरों की क्या भूमिका समझते हैं. क्या इन दोनों के लिए कोई स्थान है? क्या इनमें से केवल एक के लिए जगह है?’

उन्होंने कहा, ‘क्या आप एक साल में या छह महीने में इसका आकलन करना चाहते हो? इन दोनों खिलाड़ियों पर फैसला करने से पहले क्या आप उपलब्ध प्रतिभा पर गौर करना चाहते हो और देखना चाहते हो कि किस तरह का प्रदर्शन करते हैं?’

चैंपियंस ट्रॉफी के बाद भारतीय टीम वेस्टइंडीज के लिए रवाना हो गई है, जहां टीम शुक्रवार से शुरू होने वाली वनडे सीरीज में भाग लेगी. द्रविड़ ने हालांकि उम्मीद जताई कि युवा खिलाड़ियों को अंतिम एकादश में जगह मिलेगी. द्रविड़ ने कहा, ‘उन्होंने मजबूत टीम के साथ वेस्टइंडीज जाने का फैसला किया है. मुझे विश्वास है कि वे अंतिम एकादश में बदलाव करना चाहेंगे और अधिक खिलाड़ियों को मौका देंगे.’

उन्होंने कहा, ‘अगर आप ऐसा नहीं करते तो अचानक आप इस स्थिति में नहीं आना चाहोगे जो आप कहोगे कि हमने लोगों को मौके नहीं दिए और हमारे पास यही आजमाए हुए खिलाड़ी हैं.’

द्रविड़ ने कहा, ‘बेहतर स्थिति यही होगी कि हमने सबको आजमा लिया है, लेकिन हमारा मानना है कि युवी और धोनी अब भी फिट हैं और वे अच्छा खेल रहे हैं और वे ही ऐसे खिलाड़ी हैं जो अभी टीम को आगे बढ़ा सकते हैं.’

उन्होंने इसके साथ ही कहा कि रविचंद्रन अश्विन और रविंद्र जडेजा की स्पिन जोड़ी पर फैसला करने का समय आ गया है, जो चैंपियन्स ट्रॉफी के दौरान सपाट पिचों पर प्रभाव छोड़ने में नाकाम रहे थे.

द्रविड़ ने कहा, ‘हम वास्तव में सपाट विकेटों पर खेल रहे हैं. उनके लिए परिस्थिति मुश्किल है. अगर आपको बीच के ओवरों में विकेट चाहिए तो इन सपाट विकेटों पर कलाईयों का स्पिनर और रहस्यमयी स्पिनर विकेट निकाल सकते हैं.’

उन्होंने कहा, ‘यह अच्छा है कि कुलदीप यादव के रूप में हमारे पास विकल्प है. उसे अधिक से अधिक मैचों का अनुभव दिलाने की जरूरत है. उसके पास योग्यता है और वह थोड़ा रहस्यमयी है.’ कुलदीप को वेस्टइंडीज दौरे के लिए टीम में चुना गया है जहां भारत पांच वनडे और एक टी20 मैच खेलेगा.