बद्रीनाथ जा रही बस खाई में लटकी, चमत्कार हुआ और बच गई 18 की जान

दिल्ली के तीर्थयात्रियों से भरी एक बस बद्रीनाथ की ओर जा रही थी. तभी अनियंत्रित होकर बस खाई की ओर लटक गई. लेकिन कहते हैं न ‘जाको राखे साईयां मार सके न कोई’। फिर एक चमत्कार हुआ और 18 लोगों की जान बच गई.

सोमवार 19 जून दोपहर करीब सवा दो बजे जोशीमठ से बद्रीनाथ की ओर जा रही दिल्ली के तीर्थयात्रियों की बस पिनौला में विपरीत दिशा से आ रहे वाहन को साइड देने के दौरान अनियंत्रित होकर खाई की ओर लटक गई.

बस के दो टायर खाई में हवा में झूलने लगे. ड्राइवर ने किसी तरह तीर्थयात्रियों को बस से उतरा. यात्रियों के बाद ड्राइवर और कंडक्टर भी बस से उतर गए. बस से उतरते ही घबराए तीर्थयात्री बद्रीनाथ की स्तुति करने लगे. हादसे के बाद हाईवे पर जाम लग गया और दोनों ओर वाहनों की लंबी लाइनें लग गईं.

देर शाम छह बजे क्रेन और जेसीबी की मदद से बस को हाईवे पर लगाया गया. तब जाकर जाम खुला. प्रत्यक्षदर्शी दरवान सनवाल का कहना है कि जिस स्थान पर बस अनियंत्रित होकर अटकी, वहां हाईवे संकरा है.

बताया कि यहां खाई की ओर सुरक्षा के लिए स्टील गार्डर भी नहीं लगे हैं. गोविंदघाट के थानाध्यक्ष प्रदीप राठौर का कहना है कि बस को खाई से निकालने का कार्य जारी है. बारिश होने के कारण कार्य में बाधा हो रही है.