कभी शिमला स्थित राष्ट्रपति आवास में नहीं घुसने दिया था रामनाथ कोविंद को

भारतीय जनता पार्टी ने बिहार के राज्यपाल रामनाथ कोविंद को अपना राष्ट्रपति का उम्मीदवार बताया है. वहीं अभी जिस तरह का संख्या बल है उससे उम्मीद की जा रही है कि वह ही अगले राष्ट्रपति होंगे. लेकिन अब से लगभग 3 हफ्ते पहले एक मौका ऐसा भी आया था जब रामनाथ कोविंद को राष्ट्रपति के आवास में घुसने से मना कर दिया गया था. वह शिमला दौरे पर थे और राष्ट्रपति रिट्रीट देखने गए थे. लेकिन उन्हें प्रेसिडेंट रिट्रीट देखने की इजाजत नहीं दी गई थी, और वे बेरंग वहां से लौट आए थे.

अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक, रामनाथ कोविंद गर्मी की छुट्टियां मनाने शिमला गए थे, इस दौरान वे हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल आचार्य देवरत के आधिकारिक मेहमान थे. तभी 29 मई को उनका मन प्रेसिडेंट रिट्रीट देखने का हुआ, लेकिन क्योंकि उनके पास इसकी इजाजत नहीं थी इसलिए उन्हें अंदर नहीं जाने दिया गया था.

आपको बता दें कि शिमला का प्रेसिडेंट रिट्रीट भारत के राष्ट्रपति का आधिकारिक रिट्रीट है. यहां पर राष्ट्रपति गर्मी की छुट्टियां बिताने आते हैं. क्योंकि इस बार राष्ट्रपति चुनाव हैं इसी कारण प्रणब मुखर्जी यहां नहीं आ पाए थे. प्रेसिडेंट रिट्रीट में जाने के लिए राष्ट्रपति भवन की अनुमति होना अनिवार्य है.

गौरतलब है कि राष्ट्रपति चुनाव जुलाई में होना है, जिसके लिए बीजेपी ने रामनाथ कोविंद को अपना उम्मीदवार बनाया है. विपक्ष ने भी अभी अपने कोई पत्ते नहीं खोले हैं, विपक्ष आगामी 22 जून को इस मुद्दे पर बैठक कर सकता है.