बिहार : मेट्रिक की छात्रा से सामूहिक दुष्कर्म कर रेलगाड़ी से फेंका

लखीसराय/पटना, बिहार में लखीसराय के चानन थाना क्षेत्र के एक गांव में 10वीं की एक छात्रा के साथ कथित तौर पर सामूहिक दुष्कर्म के बाद उसे रेलगाड़ी से बाहर फेंक दिया गया.पीड़िता को पटना मेडिकल कॉलेज अस्पताल (पीएमसीएच) में भर्ती कराया गया है, जहां उसकी हालत नाजुक बनी हुई है.पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है.मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इसे ‘जघन्य अपराध’ बताया है.पुलिस के अनुसार, लाखोचक गांव निवासी 14 वर्षीय छात्रा शुक्रवार को शौच के लिए घर से बाहर निकली थी, तभी गांव के दो लड़कों ने उसे अगवा कर लिया और उसके साथ दुष्कर्म किया.इसके बाद चार अन्य साथियों के साथ आरोपियों ने पीड़िता को एक स्टेशन पर रेलगाड़ी पर चढ़ाया और किऊल रेलवे स्टेशन के पास उसे रेलगाड़ी से बाहर फेंक दिया.

 

पीड़िता के परिजनों ने बताया, “12 घंटे तक खोजबीन के बाद उसे (पीड़िता) किऊल रेलवे स्टेशन पर पाया गया”. पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि पीड़िता को पहले स्थानीय अस्पताल ले जाया गया, जहां उसकी स्थिति गंभीर देखते हुए उसे पटना मेडिकल कॉलेज अस्पताल भेज दिया गया.

 

चानन के थाना प्रभारी सुनील कुमार ने सोमवार को कहा कि इस मामले में पीड़िता के बयान के आधार पर सामूहिक दुष्कर्म की एक प्राथमिकी चानन थाने में दर्ज कर ली गई है, जिसमें दो लोगों को नामजद तथा चार अज्ञात लोगों को आरोपी बनाया गया है. उन्होंने कहा कि एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है तथा अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी जारी है.

 

इस बीच मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इसे ‘जघन्य अपराध’ बताते हुए कहा कि इस मामले में एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है, और पुलिस पूरे मामले की छानबीन कर रही है, दोषी को हर हाल में सजा दिलाई जाएगी.