NSG में भारत की दावेदारी पर ड्रैगन अपनी हठ पर कायम

बीजिंग|…चीन ने शुक्रवार को कहा कि परमाणु अप्रसार संधि, एनपीटी पर हस्ताक्षर नहीं करने वाले देशों के परमाणु आपूतर्किर्ता समूह, एनएसजी में प्रवेश को लेकर उसके रुख में कोई परिवर्तन नहीं हुआ है. चीन के इस बयान से भारत के 48 सदस्यीय एनएसजी समूह की अगले सप्ताह होने वाली बैठक में प्रवेश की संभावना को धक्का पहुंचा है.

 

चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लू कांग ने संवाददाताओं से कहा, ‘परमाणु आपूतर्किर्ता समूह, एनएसजी के मुद्दे पर मैं आपको बता सकता हूं कि नए सदस्यों के प्रवेश में चीन के रुख में कोई परिवर्तन नहीं हुआ है.’

 

लू ने ये टिप्पणी उन खबरों को लेकर पूछे गए सवाल का उत्तर देते हुए की कि रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने हाल में अस्ताना में हुए शंघाई सहयोग संगठन, एससीओ सम्मेलन में चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के साथ हुई बैठक में एनएसजी में भारत के प्रवेश का मुद्दा उठाया था