बीजेपी महिला नेता के सैक्स रैकेट में सामने आया एक और घिनौना सच

एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट टीम ने हरिद्वार जिले के रुड़की में महिला बीजेपी नेता द्वारा चलाए जा रहे जिस सेक्स रैकेट का भंडाफोड़ किया था, उसमें इससे भी शर्मनाक एक और सच सामने आया है.

छापे में बरामद लड़कियों ने जो सच बताया है वह बेहद शर्मनाक है. बीजेपी नेता द्वारा चलाए जा रहे देह व्यापार से पहले लड़कियों के साथ रेप कराया जाता था. सैक्स रैकेट संचालिकाओं के कब्जे से बरामद युवतियों ने बताया कि दो होटलों में ले जाकर उनके साथ रेप किया गया. जिन दो होटलों में बलात्कार हुआ उनके संचालकों के खिलाफ भी कार्रवाई की जा रही है.

आरोप है कि 13 जून को जिस सेक्स रैकेट का भंडाफोड़ किया था, वह बीजेपी महिला प्रदेश कार्यकारिणी की विशेष आमंत्रित सदस्य हेमा रावल के संरक्षण में चल रहा था. सेक्स रैकेट संचालन के आरोप में गिरफ्तार दोनों संचालिकाओं के इस बयान से रुड़की की भाजपाई सियासत में जैसे भूचाल आ गया है.

बीजेपी ने आनन-फानन में हेमा को छह साल के लिए पार्टी से निष्कासित कर दिया. पुलिस फरार आरोपी गिरोह सरगना बीजेपी नेता की तलाश में जुट गई है. इसके अलावा उनमें से एक होटल एक कांग्रेस नेता का बताया जा रहा है.

सीओ रुड़की स्वप्न किशोर सिंह ने बताया कि सेक्स रैकेट की पकड़ी गई दोनों संचालिकाओं ने पूछताछ में गिरोह की सरगना के रूप में एक बीजेपी नेता हेमा रावल का नाम बताया है. गिरोह की फरार सरगना हेमा रावल की तलाश शुरू कर दी है. जल्द उसे भी गिरफ्तार किया जाएगा.

बता दें कि 13 जून की शाम एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट की प्रभारी निरीक्षक साधना त्यागी ने गंगनहर कोतवाली पुलिस को साथ लेकर प्रेमनगर स्थित एक मकान में छापा मारा था.

इस दौरान पुलिस ने दो महिलाओं और दो पुरुषों (यशपाल निवासी थिथकी और बॉबी निवासी तांसीपुर मंगलौर) को आपत्तिजनक हालत में गिरफ्तार किया था. पकड़ी गई दोनों महिलाएं सैक्स रैकेट का संचालन करती हैं.

इन चारों के कब्जे से पुलिस ने सहारनपुर निवासी एक युवती को भी बरामद किया था. पूछताछ में पीड़ित युवती ने बताया था कि उसे नौकरी दिलाने का झांसा देकर जबरन देह व्यापार के धंधे में धकेल दिया गया था.

पीड़ित युवती के मुताबिक मंगलवार को भी दो अलग-अलग होटलों में उसके साथ चार बार बलात्कार हुआ. एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट की टीम पीड़ित महिला के साथ उन दोनों होटलों में पहुंची, जहां उससे बलात्कार हुआ था. इनमें से एक होटल गणेशपुर क्षेत्र में है.

सेक्स रैकेट संचालित करने वाली दोनों महिलाओं और पुरुषों का चालान कर जेल भेज दिया गया. हेमा से जुड़े लोग इसे राजनीतिक साजिश बताते हैं.