ISIS ने पाकिस्तान में चीनी बंधकों की हत्या का किया दावा, चीन ने पुष्टी की

इस्लामाबाद/बीजिंग। इस्लामिक स्टेट आतंकवादी संगठन (ISIS) ने दावा किया है कि उसने एक महिला सहित दो चीनी बंधकों की हत्या की थी, जिन्हें हथियारबंद लोगों ने पाकिस्तान के अशांत बलूचिस्तान प्रांत से हाल ही में अगवा किया था.

बंधक बनाए गए लोग प्रांतीय राजधानी क्वेटा में एक स्थानीय शिक्षण केंद्र में उर्दू भाषा की पढ़ाई कर रहे थे, जब उन्हें पिछले महीने अज्ञात बंदूकधारियों ने अगवा कर लिया था. हालांकि, एक अन्य चीनी महिला अगवा होने से बच गई थी.

आईएसआईएस ने अपनी न्यूज एजेंसी ‘अमाक’ पर अरबी में गुरुवार को एक बयान जारी करते हुए कहा कि इसने अगवा किए दो चीनी नागरिकों की हत्या कर दी है.

वहीं, अपने नागरिकों की हत्या की पुष्टि करते हुए शुक्रवार को चीन ने कहा कि ये हत्याएं चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारा से जुड़ी हुई नहीं हैं, लेकिन यह भी कहा कि इन खतरों को टाला नहीं जा सकता. क्योंकि इसकी ‘बेल्ट एंड रोड इनिशिएटिव’ (बीआरआई) वैश्विक हो गई है.

चीनी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने कहा कि पाकिस्तान ने इन मौतों के बारे में चीन को सूचना दी. उन्होंने कहा कि चीन ने उन्हें बचाने के लिए पाकिस्तान के साथ मिलकर काम किया, लेकिन ‘बदकिस्मती से वे मारे गए.’ हुआ ने कहा कि इस घटना का बीआरआई या अस्ताना में हो रहे शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) के सम्मेलन से कोई संबंध नहीं है.

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान वहां के संस्थानों में चीनी नागरिकों की सुरक्षा का बहुत ध्यान रखता है और इसके लिए काफी प्रयास भी करता है.

हालांकि, उन्होंने कहा कि चीनी लोगों को जोखिम लेने के लिए तैयार रहना चाहिए क्योंकि बीआरआई देश के विभिन्न हिस्सों में फैल रहा है. यदि हम वैश्विक होना चाहते हैं तो बीआरआई के मुताबिक हमें जोखिम उठाने के लिए तैयार रहना चाहिए.

पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने कहा कि सरकार दोनों चीनी नागरिकों की हत्या संबंधी खबरों की पुष्टि करने की कोशिश कर रही है. विदेश मंत्रालय ने एक वक्तव्य में कहा, ‘हम चीन की सरकार के लगातार संपर्क में हैं. पाकिस्तान आतंकवाद के सभी रूपों से लड़ने के लिए प्रतिबद्ध है. आतंक की कायराना हरकतें इसे खत्म करने के हमारे संकल्प को कमजोर नहीं कर सकती.’