हल्द्वानी : गौला पार में बस अड्डे के निर्माण पर जल्द निर्णय लेने की मांग

उत्तराखंड विधानसभा में विपक्ष की नेता इंदिरा हृदयेश ने शुक्रवार को कहा कि पिछले माह हल्द्वानी में मिले नरकंकालों के कारण रुके अन्तराज्यीय बस अड्डे के निर्माण के संबंध में राज्य सरकार को जल्दी ही कोई निर्णय लेना चाहिए.

राज्य विधानसभा में राज्य सरकार द्वारा गुरुवार को पेश बजट पर सामान्य चर्चा में भाग लेते हुए इंदिरा ने कहा कि नरकंकाल मसले पर विशेषज्ञों की रिपोर्ट राज्य सरकार को सौंपी जा चुकी है. इसलिए बस अड्डे के निर्माण में संबंध में फैसला लेने में देरी नहीं की जानी चाहिए.

उन्होंने कहा कि हल्द्वानी में बस अड्डा का निर्माण कर रही कंपनी को राज्य सरकार द्वारा पहले ही साढ़े सात करोड़ रुपये का भुगतान किया जा चुका है और इसके निर्माण में होने वाली देरी से इसकी लागत और बढ़ जाएगी.

गौरतलब है कि हल्द्वानी में गौलापार में बन रहे अन्तरराज्यीय बस अड्डे के निर्माण के दौरान नरकंकाल मिलने से सनसनी फैल गई थी और इसके बाद वहां निर्माण कार्य रोक दिया गया था.

इंदिरा ने राज्य सरकार से जैविक खेती को बढ़ावा देने का भी सुझाव दिया और कहा कि इसे क्लस्टर रूप में अपनाया जाना चाहिए. राज्य विधानसभा में विपक्ष की नेता ने यह भी कहा कि सामाजिक हित में पिछली सरकार द्वारा शुरू की गई योजनाओं को बंद नहीं किया जाना चाहिए.

इंदिरा ने पर्यावरण और पर्यटन के लिए वनीकरण की प्रक्रिया को जरूरी बताते हुए कहा कि वनीकरण कागजों पर न होकर जमीन पर होना चाहिए. उन्होंने चिन्हीकरण की प्रक्रिया से छूट गए आंदोलनकारियों को भी चिन्हित करने का राज्य सरकार को सुझाव दिया.