मध्यावधि चुनाव से बचना है तो किसानों का पूरा कर्ज माफ करे सरकार : शिवसेना

केंद्र और महाराष्ट्र की बीजेपी की अगुवाई वाली सरकारों में गठबंधन सहयोगी के तौर पर शामिल शिवसेना ने शुक्रवार को बीजेपी से कहा कि यदि वह राज्य में मध्यावधि चुनाव से बचना चाहती है तो ‘किसानों का कर्ज पूरी तरह माफ’ करने की घोषणा करे.

शिवसेना ने यह रुख ऐसे समय में अपनाया है जब देवेंद्र फडणवीस सरकार किसानों के प्रदर्शन के कारण आलोचनाओं से घिरी है. इस बीच ऐसी खबरें भी आई हैं कि बीजेपी समय से पहले विधानसभा चुनाव कराने पर भी विचार कर रही है.

महाराष्ट्र में बीजेपी की अगुवाई वाली एनडीए सरकार अक्टूबर 2014 में बनी थी. यूं तो फडणवीस ने किसानों के प्रदर्शन के बीच छोटे और सीमांत किसानों के लिए कर्ज माफी का ऐलान किया था, लेकिन शिवसेना ‘किसानों का कर्ज पूरी तरह माफ’ करने की मांग कर रही है.

शिवसेना सांसद संजय राउत ने शुक्रवार को एक मराठी न्यूज चैनल से बातचीत में कहा कि यदि पार्टी सत्ता छोड़ देती है तो उस पर कोई असर नहीं पड़ेगा.

राउत ने कहा, ‘हम कुछ नहीं गंवाएंगे और यदि हम सत्ता छोड़ भी दें तो हम पर इसका कोई असर नहीं पड़ेगा. मध्यावधि चुनाव की सूरत में हम बीजेपी से बेहतर तरीके से तैयार हैं. यदि सरकार इससे बचना चाहती है तो उसे किसानों का कर्ज तत्काल पूरी तरह माफ कर देना चाहिए.’