देहरादून : चोर गिरोह की महिला सरगना समेत सात गिफ्तार

देहरादून, भीड़ वाली जगह और बाजारों में लोगों का पर्स, मोबाइल आदि उड़ाने वाला एक गैंग पुलिस के हत्थे चढ़ा है.गैंग की सरगना समेत सात सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया गया है. गैंग की सरगना एक महिला है, इसके अलावा गिरोह में तीन महिलाएं और शामिल थी. सभी उत्तर प्रदेश के रहने वाले है. आरोपियों से सवा लाख रुपये की नकदी, मोबाइल व कई एटीएम कार्ड बरामद किए गए है.

एसएसपी निवेदिता कुकरेती ने बताया कि सरोज चौरसिया पत्नी डॉ. बीपी चौरसिया निवासी शारदा विहार, नालापानी चौक, सहस्रधारा रोड बीती 20 मई को पलटन बाजार में खरीददारी कर रही थी. इसी दौरान किसी ने उनकी स्कूटी की डिक्की से पर्स, मोबाइल और एटीएम कार्ड पार कर दिया. इसके दूसरे दिन उनके खाते से 75 हजार रुपये निकाल लिए गए. पुलिस ने जांच की तो पता चला कि रुपये मोइनुद्दीन पुत्र उस्मान निवासी दीवान का बाजार, नागफनी, मुरादाबाद ने निकाले है.

इसके बाद पुलिस ने उसके बारे में जांच-पड़ताल शुरू की. तब मालूम हुआ कि मोइनुद्दीन चोरों के एक गिरोह का सदस्य है, जिसकी सरगना एक महिला है. कई दिन की तफ्तीश के बाद बुधवार को गिरोह के सभी सदस्य सहारनपुर रोड स्थित भूसा स्टोर के पास गिरफ्तार कर लिए गए. गिरोह की सरगना मोइनुद्दीन की मां अनीशा निकली. अनीशा अपने बेटों मोहनुद्दीन और रहमान के अलावा रईसा बानो पत्नी मो. सनवर निवासी करोना मीनानगर थाना मझोला मुरादाबाद, रूबी पत्नी मो. शाहरुख व मुन्नी पत्नी अलादियर निवासीगण मोहल्ला टनटन अपर कोट नगर बुलंदशहर व बिट्टू पुत्र फराज निवासी सरायेदारी थाना गोमतीनगर के साथ गिरोह चला रही थी. घटना का खुलासा करने वाली पुलिस टीम को एसएसपी ने ढाई हजार रुपये इनाम देने की घोषणा की है.

गिरोह बाजार में अकेले खरीददारी करने पहुंची किसी महिला पर नजर रखता था. इसके बाद मौका मिलते ही अनीशा या गिरोह की अन्य महिला सदस्य उसका पर्स पार कर देती.पर्स पार न कर पाने की स्थिति में ये लोग पर्स काटकर सामान निकाल लेते थे. गिरोह के पुरुष सदस्यों का काम एटीएम कार्ड का प्रयोग कर खाते से रुपये निकालना था. ये लोग देहरादून के अलावा हरिद्वार, रुड़की, मसूरी में भी कई वारदात कर चुके है