सस्पेंड की सूचना मिलते ही नर्स को लगा सदमा, आईसीयू में भर्ती

देहरादून , सस्पेंड होने की सूचना मिलते ही दून अस्पताल की नर्स फातिमा बेहोश हो गयी, जब काफी समय तक होश नहीं आया तो नर्स को आईसीयू में भर्ती कराया गया. नर्स सोमवार सुबह से आईसीयू मे भर्ती है डॉक्टरों के अनुसार नर्स को सदमा लगा है. उधर, उत्तराखंड नर्स एसोसिएशन की प्रांतीय अध्यक्ष कृष्णा रावत का कहना है कि नर्स एक समय में दोहरी ड्यूटी कर रही थी. उन्होंने सस्पेंड की कार्रवाई पर सवाल उठाए हैं.
बता दें कि गत बुधवार शाम को मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत दून अस्पताल का निरीक्षण किया था. उन्होंने वार्ड में दो डाक्टरों को नदारद पाकर गहरी नाराजगी जताई. बोलने के बाद भी मरीज की ड्रिप न बदलने पर उन्होंने स्टाफ नर्स और दोनों जेआर डाक्टरों को निलंबित करने के आदेश दिए. पर दूसरे दिन अस्पताल प्रशासन ने दोनों के निलंबन की खबर गलत बताई. वहीं, शासन में सभी को ड्यूटी के दौरान चार घंटे अतिरिक्त काम करने की नई सजा सुनाई गई.
मुख्यमंत्री को इसका पता चला तो उन्होंने गहरी नाराजगी जताई.

रविवार सुबह अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य ओमप्रकाश ने चिकित्सा अधीक्षक डा. केके टम्टा को फोन कर तीनों को निलंबित करने के निर्देश दिये. लेकिन चिकित्सा अधीक्षक के पास ये अधिकार न होने के चलते प्राचार्य डा. पीबी गुप्ता को निर्देश दिए गए. सोमवार सुबह अस्पताल में जैसे ही नर्स को सस्पेंड होने के आदेश दिए गए, तो उन्हें सदमा लग गया. नर्स को बेहोशी हालत में आईसीयू में भर्ती कराया गया है.