मौसम विभाग ने जारी की चार जनपदों में भारी बारिश की चेतावनी

देहरादून, उत्तराखण्ड चारधाम यात्रा वाले क्षेत्र में अगले 48 घंटे तेज हवाओं के साथ बारिश और ऊंचाई वाले क्षेत्रों में ओलावृष्टि की चेतावनी जारी की है. पिथौरागढ़, नैनीताल, चमोली, रुद्रप्रयाग के लिए खासतौर पर चेतावनी जारी की गई है. 39 डिग्री पार पहुंचे पारे ने लोगों के खूब पसीने छुड़ाए. सोमवार को भी गर्मी से राहत नहीं मिली.

दो दिन से गर्मी प्रचंड रूप दिखा रही है. रविवार को को अधिकतम तापमान 39.9 डिग्री सेल्सियस रहा था, जो तब तक का सर्वाधिक था. सोमवार को धूप असहनीय होने लगी और सड़कों पर सन्नाटा सा पसरा नजर आया. लोगों ने गर्मी से बचने के लिए घर में रहना ही मुफीद समझा.हालांकि, गर्मी से राहत पाने के लिए सहस्रधारा, गुच्चूपानी, लच्छीवाला में पर्यटकों के साथ-साथ दूनवासियों की काफी आमद रही. शाम को गर्मी के साथ उमस से भी लोग परेशान रहे.

सोमवार को अधिकतम तापमान 39.8 और न्यूनतम तापमान 24.4 डिग्री सेल्सियस रहा शनिवार के मुकाबले न्यूनतम तापमान भी तीन डिग्री सेल्सियस अधिक था.मौसम विभाग के निदेशक विक्रम सिंह ने बताया कि अभी तापमान 39 से 40 डिग्री सेल्सियस के आसपास ही रहेगा. लेकिन, मंगलवार से मौसम बदलेगा। छह और सात जून को अच्छी बारिश की संभावना है.विदित रहे कि पिछले दिनों लगातार हल्की बारिश होने के चलते देहरादून का तापमान सामान्य से कम था. जिससे लोगों ने राहत म​हसूस की. रविवार को तापमान में अचानक वृद्धि होने से दोपहर में लोग घरों से बाहर जरूरी काम के लिए ही निकले.छुट्टि का दिन होने के कारण भी कई लोगों ने राहत की सांस ली.डॉक्टरों की सलाह है कि गर्मी बढ़ने पर अगर बाहर निकलना हो तो शरीर ढककर निकलने, बाहर जाने से पहले पानी जरूर पीये.बाहर की बने हुए खाद्य पदार्थों का सेवन न करें.

पहले माना जाता था कि दिन में 38 से 40 डिग्री से​ल्सियस तक तापमान पहुंचने पर शाम को बारिश जरूर होती थी और लोग सकून महसूस करते थे.लेकिन अब शहर के बीच के बागों पर लगातार आरियां चलते से यहां पारिस्थितिकी में बड़ा बदलाव आ गया है.जिस दून घाटी को लोग गर्मियों के लिए स्वर्ग मानते थे, उसमें दिन में बाहर निकला मुश्किल होता जा रहा है.