‘लेडी नटवरलाल’ ने 40 महिलाओं को व्यापार का झांसा देकर लगाया 10 करोड़ रुपये का चूना

साभार-मुंबई मिरर

मुंबई,  अपराध की दुनिया में ‘लेडी नटवरलाल’ नाम से मशहूर महिला ने 40 महिलाएं को 10 करोड़ रुपयों का चूना लगा डाला.अब पीड़ित महिलाएं परेशान हैं और डूबे पैसों को वापस पाने की कोशिश में इधर-उधर भटक रहीं है. लेडी नटवरलाल ने उन्हें जल्द पैसे जोड़ने का लालच दिया था.

बांद्रा, बायकुला और मीरा रोड की पुलिस इन महिलाओं को चूना लगाने वाली 36 वर्षीय महिला परवीन मर्चेंट की तलाश कर रही है. आरोपी महिला ने अपने टेक्सटाइल व ड्राईफ्रूट के कारोबार में निवेश कर मोटा मुनाफा कमाने का लालच दिया था. परवीन को ताजमहल और लाल किला बेचने वाले ठग नटवरलाल के नाम पर ‘लेडी नटवरलाल’ नाम दिया गया है.

पुलिस के मुताबिक, मर्चेंट सबसे पहले बायकुला में रहने वाली सुमैया खान के पास पहुंची थी.पीड़िता सुमैया ने बताया, ‘मैं और परवीन दोनों गार्मेंट के कारोबार से जुड़े है. मीठी-मीठी बातें कर परवीन ने मुझे अपने कारोबार में पैसा लगाने के लिए राजी कर लिया. उसने मुझे अच्छे रिटर्न का वादा किया, शुरुआत में रिटर्न मिला भी. लेकिन बाद में उसने धोखा देना शुरू कर दिया. मैंने परवीन को कई महंगे फोन, 900 ग्राम सोना, 24 लाख रुपये कैश भी दिया. कुल मिलाकर उसने मेरे 1,24,00,000 रुपये हजम कर लिए.’ सुमैया ने आगे बताया, इसके कुछ समय बाद, परवीन गायब हो गई, उसका कोई अता-पता नही. बकौल सुमैया, परवीन ने कहा था कि वह उनके दिए मोबाइल फोन्स को 10,000 रुपये के मुनाफे के साथ बेचेगी, जिसे दोनों बराबर बांट लेंगे.

बांद्रा की रूबी सैयद के साथ भी ऐसा ही कुछ हुआ. वह बताती हैं, ‘परवीन मेरे घर के पास रहती थी. मैं टिफिन सर्विस चलाती हूं, अपने काम के दौरान हम दोंनों की मुलाकात हुई. मैं यह सोचती थी कि वह अपने 12 वर्षीय बेटे के साथ रहती है. उसने डबल रिटर्न का भरोसा दिलाकर मुझे अपने कारोबार में निवेश करने के लिए राज़ी कर लिया. शुरुआत में मैंने 1,50,000 रुपये निवेश किए और रिटर्न में मुझे 1,70,000 रुपये मिले. इसके बाद मैंने करीब 25 लाख का निवेश किया. मैं जब उसके घर पहुंची तो मैंने पाया कि वह मकान खाली कर चली गई है और उसका मोबाइल फोन्स भी स्विच ऑफ थे.’

जांच में पुलिस ने पाया कि परवीन ने इसी तरह आयरा खान को भी करीब 49 लाख रुपये का चूना लगाया. परवीन जाहिदा खान नाम की महिला को भी 240 ग्राम सोने की, नसरीन महबूब को 67 लाख रुपयों की और रूमी मुखर्जी को 20 लाख रुपयों का चूना लगाने में कामयाब रही.

बांद्रा के हसन शेख नाम के पीड़ित ने बताया, ‘परवीन मर्चेंट के खिलाफ 3 एफआईआर दर्ज हैं. एक ही महिला द्वारा ठगी के इस मामले को हम मुंबई पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा(EOW) तक ले जाएंगे. अब तक के मामलों को देखें तो महिला करीब 10 करोड़ रुपयों का चूना लगा चुकी है. पुलिस अब तक उसे अरेस्ट नहीं कर पाई है, जबकि सभी एफआईआर जनवरी 2016 में दर्ज कराई गईं थी

पुलिस अधिकारी ने बताया, ‘परवीन के झांसे में न सिर्फ महिलाएं आईं, बल्कि उनके रिश्तेदार भी आ गए और अपने लाखों रुपये गंवा बैठे’ ठग परवीन मर्चेंट को 2007 में अंधेरी, जोगेश्वरी और बांद्रा के 45 निवेशकों को ठगने के आरोप में अरेस्ट किया गया था. वह नाजनीन नाम से भी जानी जाती है