भारत को रूस से मिलेंगी विमान भेदी मिसाइल प्रणाली एस-400, बढेगी सैन्य ताकत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इन दिनों यूरोप के चार देशो की यात्रा पर है.अपने छह दिन के इस दौरे में पीएम मोदी रूस पहुंच गए है. उनकी इस यात्रा के साथ ही भारत और रूस के बीच कई अहम समझौते हुए है. अब रूस की ओर से एस 400 ट्रायम्फ एंटी-एयरक्राफ्ट मिसाइल सिस्टम भारत को देने की तैयारियां शुरू हो गई है.इस डिफेंस सिस्टम की खास बात यह है कि यह एक साथ 36 मिसाइलों को मार गिराने में सक्षम है. भारत के लिए यह सौदा ऐसे समय में काफी अहम माना जा रहा है, जब पाकिस्तान और चीन दोनों का भारत के साथ लगातार गतिरोध चल रहा है.

बता दें कि पीएम मोदी इन दिनों कई देशों की यात्रा पर गए हुए है. इस दौरान गुरुवार को वह रूस में थे, जहां उन्होंने कई समझौतों पर हस्ताक्षर किए. भारत-रूस के बीच ये समझौते उस समय में और अहम हो गए है जब भारत के पड़ोसी देश चीन और पाकिस्तान उसकी हर हरकत पर नजर रखे हुए है. इस दौरान पीएम मोदी की मुलाकात व्लादिमीर पुतिन से भी हुई. इस दौरान रूस ने संयुक्त राष्ट्र की सुरक्षा परिषद में स्थायी सदस्यता के लिए भारत की उम्मीदवारी का पुरजोर समर्थन करने की बात कही. इतना ही नहीं परमाणु आपूर्तिकर्ता समूह (एनएसजी) और परमाणु हथियार अप्रसार की अन्य व्यवस्था में अपने समर्थन की बात दोहराई.

बहरहाल, रूस के उप प्रधानमंत्री दिमित्री रोगोजिन ने भारत को विमान भेदी मिसालइन प्रणाली एस-400 देने की बात कही. हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि अब यह कहना थोड़ा मुश्किल होगा कि हम उसकी आपूर्ति भारत को कितने समय में कर पाएंगे. बता दें कि दोनों देशों के बीच इस प्रणाली को लेकर पिछले साल से बातचीत चल रही थी. गत वर्ष गोवा में ब्रिक्स समिट के दौरान ही 32 हजार करोड़ से ज्यादा की डिफेंस डील हुई थी.