नाम बदलकर की बुकिंग, फिर भी हवाई यात्रा नहीं कर पाए रवींद्र गायकवाड़

एयरइंडिया कर्मचारी को चप्पल से पीटने के बाद विमानन कंपनियों द्वारा उड़ान संबंधी प्रतिबंध के चलते शिवसेना सांसद रवींद्र गायकवाड़ अब फ्लाइट बुक करने के लिए ‘साम दाम दंड भेद’ की नीति पर चल रहे हैं. गायकवाड़ ने 7 दिन में 7 बार नाम बदलकर फ्लाइट बुक करवाई, फिर भी वह उड़ान भरने में नाकामयाब रहे.

अंग्रेजी अखबार हिंदुस्तान टाइम्स की खबर के मुताबिक एयर इंडिया ने अपने स्टाफ को ‘सांसद की करतूतों’ के लिए आगाह किया है. आरोप है कि गायकवाड़ अपने नाम की स्पेलिंग में फेरबदल करके हवाई टिकट बुक करने की फिराक में हैं.

गायकवाड़ पर एयरइंडिया के एक 60 वर्षीय स्टाफ मेंबर को चप्पल से पीटने का आरोप है. चप्पल से पीटने वाली बात उन्होंने खुद मीडिया के कैमरे के सामने सेखी बघारते हुए कबूली थी. उसके बाद से देशभर की मीडिया में उन्हें ‘चप्पलमार सांसद’ की संज्ञा से पेश किया जाने लगा.

एयर इंडिया ने अपने स्टाफ मेंबर से गायकवाड़ के झगड़े बाद उनका मुंबई-दिल्ली वाला टिकट कैंसिल कर दिया था. उसके बाद मंगलवार को उन्होंने हैदराबाद से दिल्ली के लिए टिकट बुक किया तो वह भी रद्द कर दिया गया.

गायकवाड़ के खिलाफ पुलिस में मुकदमा दर्ज किया गया है. बुधवार को एकबार फिर उन्होंने नागपुर-मुंबई-दिल्ली वाली फ्लाइट को बुक करने की नाकाम कोशिश की.

एयर इंडिया के अधिकारियों ने बताया कि शिवसेना सांसद की करतूतों को देखते हुए रवीद्र गायकवाड़, आर गायकवाड़, प्रोफेसर वी गायकवाड़ की स्पेलिंग वाले नामों को एयर इंडिया ने बैन कर दिया है. कुछ एक बार उन्होंने ‘गायकवाड़’ की स्पेलिंग बदली. गायकवाड़ ने संसद से जारी किए गए कूपन पर बुकिंग करने की कोशिश की, इसलिए बुकिंग से संबंधित सभी जानकारियां स्कैन की जा रही हैं.