GST विधेयक पास होने को बीजेपी ने बताया ‘टीम इंडिया’ की जीत, कांग्रेस को आपत्ति

कांग्रेस ने बुधवार को लोकसभा में जीएसटी संबंधी चार विधेयकों को पारित किए जाने पर आपत्ति जताते हुए कहा कि यह संसद की संप्रभुता का उल्लंघन है. वहीं भाजपा शासित सरकारों ने इसे आर्थिक परिवर्तन की ओर बड़ा कदम बताया.

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एम. वीरप्पा मोइली ने कहा ‘हम जीएसटी का समर्थन करते हैं लेकिन जिस तरह इसे पारित किया गया वह संसदीय संप्रभुता का उल्लंघन है.’ बीजेपी के वरिष्ठ नेता एवं सूचना तथा प्रसारण मंत्री एम वेंकैया नायडू ने कहा कि जीएसटी से जुड़े विधेयकों का पारित होना ‘टीम इंडिया’ की सफलता है.

उन्होंने ट्वीट किया ‘हमारे देश ने लोकसभा में आज जीएसटी से जुड़े विधेयकों के पारित होने के साथ ही आर्थिक बदलाव की ओर एक बड़ा कदम उठाया है. यह बहुप्रतीक्षित पल था.’ बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने विधेयकों के पारित होने को ऐतिहासिक पल बताया.

पूर्व में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोकसभा में जीएसटी से जुड़े विधेयकों के पारित होने का स्वागत किया था. उन्होंने हिंदी में किए गए अपने ट्वीट में कहा था ‘जीएसटी विधेयकों के पारित होने पर देशवासियों को बधाई. नया साल, नया कानून, नया भारत.’

लोकसभा ने बुधवार को केंद्रीय माल एवं सेवा कर विधेयक 2017 (सी जीएसटी बिल), एकीकृत माल एवं सेवा कर विधेयक 2017 (आई जीएसटी बिल), संघ राज्य क्षेत्र माल एवं सेवाकर विधेयक 2017 (यूटी जीएसटी बिल) और माल एवं सेवाकर (राज्यों को प्रतिकर) विधेयक 2017 को सम्मिलित चर्चा के बाद कुछ सदस्यों के संशोधनों को नामंजूर करते हुए ध्वनिमत से पारित कर दिया. धन विधेयक होने के कारण इन चारों विधेयकों पर अब राज्यसभा को केवल चर्चा करने का अधिकार होगा.