सत्ता बदलने के साथ बेखौफ हुए खनन माफिया, वनकर्मी के हत्यारों पर हो कड़ी कार्रवाई : कांग्रेस

नैनीताल जिले के रामनगर क्षेत्र में कथित तौर पर खनन माफिया द्वारा वन विभाग के बीट वाचर की डंपर से कुचलकर हत्या किए जाने की घटना की कांग्रेस ने रविवार को कड़े शब्दों में निंदा करते हुए दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की.

उत्तराखंड कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता मथुरादत्त जोशी के माध्यम से अस्थायी राजदानी देहरादून में जारी एक बयान में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष किशोर उपाध्याय ने गत 24 मार्च को रामनगर के पश्चिमी वन प्रभाग में ज्वाला वन क्षेत्र में हुई इस हत्या को घृणित और जघन्य बताते हुए आरोप लगाया कि प्रदेश में सत्ता परिवर्तन होने के बाद कानून का राज समाप्त हो गया है और भूमाफिया तथा खनन माफिया बेखौफ होकर ऐसी घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं.

उपाध्याय के नेतृत्व में कांग्रेसियों का एक प्रतिनिधिमंडल सोमवार को घटनास्थल का दौरा करेगा और पीड़ित परिवार से मुलाकात करेगा. खनन रोकने का प्रयास कर रहे वनकर्मी की खनन माफियाओं ने कथित तौर पर डंपर से कुचलकर हत्या कर दी थी.

मामले को गंभीरता से लेते हुए मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने प्रभागीय वन अधिकारी तथा वन रेंजर को मुख्यालय से अटैच करने के निर्देश दिए और मृतक वनकर्मी की पत्नी को एक लाख रुपये की मुआवजा राशि देते हुए उसकी शैक्षिक योग्यता के आधार पर नौकरी देने की भी घोषणा की है.