IndvsAus धर्मशाला टेस्ट : लॉयन पड़े भारी 4 बल्लेबाजों का किया शिकार, भारत 248/6

धर्मशाला में भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेले जा रहे चौथे और अंतिम टेस्ट मैच के दूसरे दिन रविवार को भारतीय टीम ने खेल खत्म होने तक छह विकेट पर 248 रन बना लिए. दूसरे सत्र तक दो विकेट पर 153 रन बनाकर मजबूत नजर आ रही भारतीय टीम ने दिन के तीसरे और अंतिम सत्र में चार विकेट गंवाए यह चारों विकेट नाथन लॉयन ने लिए.

ऋद्धिमान साहा 10 और रवींद्र जडेजा 16 रन बनाकर नाबाद लौटे. भारत अब भी पहली पारी के आधार पर ऑस्ट्रेलिया से 52 रन पीछे है.

भारतीय पारी में मुरली विजय (11) और लोकेश राहुल (60) ने 21 रन ही जोड़े थे कि विजय जोश हाजलेवुड की गेंद पर विकेट के पीछे मैथ्यू वेड के हाथों लपके गए. इसके बाद राहुल ने चेतेश्वर पुजारा (57) के साथ मिलकर भोजनकाल तक टीम के स्कोर को 64 तक पहुंचाया.

राहुल और पुजारा ने दूसरे विकेट के लिए 87 रन जोड़े और टीम का स्कोर 100 के पार पहुंचाया. सीरीज में चौथा अर्धशतक लगाने वाले राहुल इसे शतक में नहीं बदल सके और पैट कमिंस की ऊंची उठती गेंद हुक करने के प्रयास में डेविड वॉर्नर के हाथों लपके गए.

राहुल ने 124 गेंदों की पारी में नौ चौके और एक छक्का लगाया. उनके आउट होने के बाद पुजारा का साथ देने आए रहाणे ने चायकाल तक 45 रन जोड़कर टीम का स्कोर 153 तक पहुंचाया. इस बीच, 55वें ओवर की तीसरी गेंद पर लगाए गए चौके के साथ ही पुजारा ने अपना अर्धशतक पूरा किया.

भारतीय टीम के लिए तीसरा सत्र खराब रहा. पुजारा ने टीम के खाते में चार रन ही और जोड़े थे कि 157 के कुल योग पर लॉयन ने उन्हें पीटर हैंड्सकॉम्ब के हाथों कैच आउट कराया. उन्होंने अपनी पारी में खेली गईं 151 गेंदों पर छह चौके लगाए. वह किसी एक सत्र में सबसे अधिक रन बनाने वाले दूसरे बल्लेबाज बन गए.

इस सूची में ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिकी पोंटिंग सबसे आगे हैं उन्होंने 2005-06 सत्र में 23 पारियों में 1,483 रन बनाए थे, वहीं पुजारा ने 22 पारियों में अब तक 1,316 रन बनाए हैं.

करुण नायर (5) भी ज्यादा देर नहीं टिक सके और लॉयन की गेंद पर वेड के हाथों लपके गए. नायर के बाद आए रविचंद्रन अश्विन (30) ने जरूर संघर्ष किया. उन्होंने रहाणे के साथ 49 रन जोड़े. जमती सी लग रही इस साझेदारी को भी लॉयन ने तोड़ा. इस मैच में कप्तानी कर रहे रहाणे 216 के कुल योग पर पांचवें विकेट के तौर पर पवेलियन लौटे.

लॉयन ने रहाणे के बाद अश्विन को भी जल्द ही पवेलियन की राह दिखा दी.

इसके साथ ही लॉयन ने भारत के खिलाफ सबसे अधिक विकेट लेने वाले स्पिन गेंदबाजों की सूची में वेस्टइंडीज के दिग्गज स्पिन गेंदबाज लांस गिब्स के रिकॉर्ड की बराबरी कर ली है. इस सूची में श्रीलंका के दिग्गज स्पिनर मुथैया मुरलीधरन शीर्ष पर हैं. उन्होंने भारत के खिलाफ 22 मैचों में 105 विकेट लिए हैं, वहीं लांस के नाम 15 मैचों में 63 विकेट हैं.लॉयन ने 14 मैचों में 63 विकेट लिए हैं.

लॉयन के अलावा ऑस्ट्रेलिया के लिए हेजलेवुड और कमिंस ने एक-एक विकेट लिया.

ऑस्ट्रेलियाई टीम पहले दिन 300 रन पर सिमट गई. पहली पारी में ऑस्ट्रेलिया के कप्तान स्टीव स्मिथ ने शानदार 111 रन की पारी खेलते हुए मौजूदा सीरीज में तीसरा शतक जड़ा. इससे पहले स्टीव स्मिथ ने पुणे और रांची टेस्ट में भी शतक जड़े थे. भारत के खिलाफ स्टीव स्मिथ का ये 7वां टेस्ट शतक रहा.

धर्मशाला टेस्ट मैच के पहले दिन डेब्यू कर रहे चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव ने 4 विकेट लेकर ऑस्ट्रेलियाई टीम की कमर तोड़ दी थी. कुलदीप यादव ने सबसे पहले वॉर्नर को अपना शिकार बनाया. कुलदीप ने वॉर्नर (56) को रहाणे के हाथों कैच करा अपना पहला अंतरराष्ट्रीय विकेट हासिल किया. पहला विकेट लेने के बाद कुलदीप थोड़े भावुक हो गए और रहाणे से कुछ देर तक लिपटे रहे.

इसके बाद कुलदीप ने पीटर हैंड्सकॉम्ब (8) को अपनी फिरकी में फंसकर बोल्ड कर दिया. इसके थोड़ी ही देर बाद
कुलदीप ने ग्लैन मैक्सवेल (8) को एक खूबसूरत गेंद पर बोल्ड कर पवेलियन की राह दिखा दी. इसके बाद तीसरे सेशन में कुलदीप ने पैट कमिंस (21) को कॉट एंड बोल्ड कर अपना चौथा शिकार बनाया.