एनपीसीआई ने दिया आश्वासन, अभेद्य हैं UPI और भीम ऐप

सांकेतिक तस्वीर

भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम (एनपीसीआई) ने सोमवार को आश्वस्त करते हुए कहा कि भारत इंटरफेस फॉर मनी (भीम) या यूनीफाइड पेमेंट इंटरफेस (यूपीआई) एप्लिकेशन में ‘किसी प्रकार की कमी’ नहीं है और यह ‘अभेद्य’ है.

एनपीसीआई के प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी ए.पी. होता ने कहा, ‘हमने गहन परीक्षण किया है. इसमें सुरक्षा नियंत्रण का मजबूत डिजाइन है था यूपीआई अवसंरचना की लगातार निगरानी की जा रही है.’

एनपीसीआई द्वारा जिस एनवायरोनमेंट में भीम और यूपीआई को रन किया जाता है, वे उच्च स्तर की सुरक्षा से लैस है तथा इसे पीसीआई डीएसएस आईएसओ 27001 जैसे सर्वोत्तम वैश्विक प्रथाओं से सम्मानित किया गया है तथा इसे जाने-माने आईटी सुरक्षा कंपनियों से ऑडिट कराया गया है.

होता ने कुछ बैंकों की यूपीआई ऐप में आई तकनीकी खराबी की मीडिया रिपोर्टों पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए यह बातें कही और कहा कि एनपीसीआई ने बैंकों के लिए किसी धोखाधड़ी और सिस्टम से जुड़े मुद्दों से निपटने के लिए पर्याप्त प्रशासनिक तंत्र लागू किया है.

उन्होंने बताया कि भीम ऐप की लांचिंग के बाद से इसे 1.91 करोड़ बार डाउनलोड किया गया, जिसमें से 51 लाख ग्राहकों ने इसे अपने बैंक एकाउंट से जोड़ा.