मोदी के ‘सबका साथ, सबका विकास’ का मजाक हैं आदित्यनाथ : माकपा

file photo

मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) ने रविवार को कहा कि योगी आदित्यनाथ को उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री बनाना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘सबका साथ, सबका विकास’ का मखौल है.

माकपा ने एक वक्तव्य जारी कर कहा, ‘योगी राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) की पसंद हैं, जिसे उसकी राजनीतिक इकाई भाजपा ने सोची समझी रणनीति के तहत अमली जामा पहनाया, जो राज्य के लिए बुरा साबित होगा.’

माकपा ने अपने बयान में कहा है, ‘आदित्यनाथ के बतौर मुख्यमंत्री चुने जाने से एक बार फिर मोदी के उन बार-बार दोहराए जाने वाले दावों की कलई खुल गई है, जिसमें वे विकास की बात करते रहते हैं. इसने उनके उस नारे ‘सबका साथ, सबका विकास’ का मखौल बना दिया है.’

माकपा ने कहा, ‘आदित्यनाथ अपनी कट्टर हिंदुत्ववादी विचारधारा के लिए और सांप्रदायिक दंगे भड़काने के लिए जाने जाते हैं. उनके खिलाफ बड़ी संख्या में आपराधिक मामले दर्ज हैं और लंबित पड़े हुए हैं.’

माकपा ने सभी लोकतांत्रिक एवं धर्मनिरपेक्ष शक्तियों से राज्य में सांप्रदायिक सौहार्द बनाए रखने के लिए एकजुट होने का आह्वान भी किया.