उत्तराखंड : त्रिवेंद रावत के नौ रत्नों के बारे में जानें, अपनों को किया पराया, 5 बागियों को अपनाया

त्रिवेंद्र सिंह रावत ने ली मुख्‍यमंत्री पद की शपथ बने उत्तराखण्ड के 8वें सीएम .इसके अलावा, सतपाल महाराज, प्रकाश पंत, हरक सिंह रावत,मदन कौशिक, यशपाल आर्य ,अरविंद पांडे,सुबोध उनियाल को भी सरकार में कैबिनेट मंत्री बनाया गया है. सोमेश्वर सीट से 710 वोटों से जीत दर्ज करने वाली रेखा आर्य और श्रीनगर से पहली बार विधायक बने धन सिंह रावत को राज्यमंत्री बनाया गया है.इस तरह शनिवार को त्रिवेंद्र सिंह रावत के मंत्रीमंडल में 9 मंत्री शामिल हुए.
जौलीग्रांट एयर पोर्ट पर राज्यपाल डॉ. केके पाल, भाजपा विधायक दल नेता त्रिवेंद्र सिंह रावत के साथ ही भाजपा के वरिष्ठ नेताओं ने पीएम मोदी का स्वागत किया. साथ ही केंद्रीय मंत्री उमा भारती, जेपी नड्डा, हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर भी दून पहुचे.समारोह स्‍थल पहुंचते ही मोदी ने लोगों का अभिवादन स्‍वीकारा. इसके बाद राष्‍ट्रगान हुआ. फिर शपथ ग्रहण समारोह शुरू हुआ. सबसे पहले त्रिवेंद्र सिंह रावत ने शपथ ली.समोराह मेें पीएम मोदी ने कोई संबोधन नहीं किया. समारोह खत्‍म होने के बाद वह दिल्‍ली के लिए रवाना हो गए
वहीं, इससे पहले त्रिवेंद्र रावत ने शहीद स्थल पहुंचकर शहीदों को श्रद्धांजलि दी. इस दौरान उन्‍होंने कहा कि शहीदों के सपनों के अनुरूप राज्य का गठन किया जाएगा.
परेड मैदान स्थित समारोह स्थल पर तीन मंच बनाए गए हैं. इनमें से एक मंच पर शपथ ग्रहण समारोह होगा, जबकि अन्य मंच से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह राज्य की जनता का आभार व्यक्त करेंगे. इसी मैदान से प्रधानमंत्री ने राज्य की जनता से डबल इंजन की मांग की थी. माना जा रहा है कि इसी मंच से प्रधानमंत्री राज्य की जनता का आभार व्यक्त करेंगे और राज्य के लिए भावी योजनाओं की घोषणा करेंगे. प्रधानमंत्री को सुनने के लिए भारी भीड़ उमड़ने लगी है. इसको देखते हुए प्रशासन ने करीब 50 हजार लोगों के लिए मैदान में व्यवस्था की है. सुरक्षा के लिए गुरुवार रात से ही एसपीजी को तैनात कर दिया गया है.

 कैबिनेट मंत्री, जानिए 
सतपाल महाराज: लोकसभा चुनाव 2014 के समय कांग्रेस से बगावत कर भाजपा में आए। रेल राज्य मंत्री रह चुके महाराज सीएम पद की दौड़ में भी शामिल थे.
मदन कौशिक: भाजपा के बड़े नेता हैं, हरिद्वार से लगातार चौथी बार जीतकर आए हैं। मैदान में भाजपा का बड़ा चेहरा हैं.
प्रकाश पंतः भाजपा के वरिष्ठ नेता हैं, सीएम की दौड़ में भी पूरी तरह शामिल रहे हैं. 2007 में भाजपा सरकार में मंत्री भी रह चुके हैं.
यशपाल आर्य: आर्य कांग्रेस के दिग्गज नेताओं में शुमार थे. वे कांग्रेस सरकार में कैबिनेट मंत्री रह चुके हैं. टिकट बंटवारे से ठीक पहले आर्य बेटे संजीव आर्य समेत कांग्रेस छोड़ भाजपा में शामिल हो गए थे.
डॉ. हरक सिंह रावतः कांग्रेस से बगावत कर भाजपा के टिकट पर कोटद्वार से जीतकर आए हैं. कांग्रेस सरकार में भी कैबिनेट मंत्री रहे हैं.
सुबोध उनियालः कांग्रेस से बगावत में अहम भूमिका रही। पूर्व सीएम विजय बहुगुणा के खास हैं। नरेंद्रनगर से जीतकर आए हैं.
अरविंद पांडेः गदरपुर से भाजपा विधायक अरविंद पांडे लगातार चौथी बार विधायक रह चुके हैं. वे पालिकाध्यक्ष भी रह चुके हैं. वे ऊधमसिंह नगर में भाजपा के बड़े चेहरे हैं.
 राज्यमंत्रीः
धन सिंह रावतः आरएसएस से लंबे समय तक जुड़े रहे हैं। श्रीनगर से चुनाव जीतकर आए हैं। केंद्र में अच्छी पकड़ है.
रेखा आर्यः कांग्रेस से बगावत कर भाजपा में आई रेखा आर्य भी सांसद और पूर्व सीएम कोश्यारी की करीबी हैं. महिला होने के नाते मंत्रीमंडल में जगह मिली है.