IndvsAus रांची टेस्ट : केएल राहुल का अर्धशतक, भारत की ठोस शुरुआत

लोकेश राहुल (67) की अर्धशतकीय पारी के दम पर भारत ने झारखंड राज्य क्रिकेट संघ स्टेडियम में जारी तीसरे टेस्ट मैच के दूसरे दिन शुक्रवार को ऑस्ट्रेलिया की पहली पारी के स्कोर 451 रनों के जवाब में अच्छी शुरुआत की है.

भारत ने दूसरे दिन का खेल खत्म होने तक अपनी पहली पारी में एक विकेट के नुकसान पर 120 रन बना लिए हैं. स्टम्प्स तक मुरली विजय (42) और चेतेश्वर पुजारा 10 रन बनाकर क्रिज पर मौजूद हैं. मेजबान टीम मेहमानों से अभी भी 331 रन पीछे है.

ऑस्ट्रेलिया के बड़े स्कोर के सामने राहुल और विजय की जोड़ी ने भारत को अच्छी शुरुआत दी और पहले विकेट के लिए 91 रन जोड़े. 102 गेंदों में नौ चौके लगाने वाले राहुल को पैट कमिंस ने विकेट के पीछे मैथ्यू वेड के हाथों कैच कराया.

इसके बाद पुजारा और विजय की जोड़ी ने दिन का खेल खत्म होने तक कोई और विकेट नहीं गिरने दिया. दोनों ने दूसरे विकेट के लिए अभी तक 29 रन जोड़ लिए हैं. विजय अभी तक अपनी पारी में 102 गेंदों सामना करते हुए नौ चौके लगा चुके हैं.

इससे पहले ऑस्ट्रेलिया ने अपने कप्तान स्टीवन स्मिथ (नाबाद 178) और ग्लैन मैक्सवेल (104) की शतकीय पारी की दम पर अपनी पहली पारी में सभी विकेट खोकर 451 रनों का विशाल स्कोर खड़ा किया था. स्मिथ ने अपनी पारी में 361 गेंदें खेली और 17 चौके जड़े. वह भारत में भारत के खिलाफ सर्वोच्च स्कोर बनाने वाले ऑस्ट्रेलियाई कप्तान भी बन गए हैं.

भारत की तरफ से रवींद्र जडेजा ने सर्वाधिक पांच विकेट लिए. उमेश यादव को तीन विकेट मिले जबकि रवीचंद्रन अश्विन को एक विकेट मिला.

पहले दिन के अपने स्कोर चार विकेट पर 299 रनों से आगे खेलने उतरी मेहमान टीम ने शुक्रवार को दिन के पहले सत्र में मैक्सवेल के रूप में अपना पहला विकेट गंवाया. मैक्सवेल ने स्मिथ के साथ पांचवें विकेट के लिए 191 रनों का साझेदारी निभाई. यह साझेदारी ऐसे समय में आई जब टीम संकट की स्थिति में थी.

पहले दिन ऑस्ट्रेलिया ने अपने चार विकेट 140 रनों पर ही गंवा दिए थे. इसके बाद स्मिथ और मैक्सवेल ने संयम और सूझबूझ के साथ टीम को आगे बढ़ाया और पहले दिन का खेल खत्म होने तक कोई और विकेट नहीं गिरने दिया था.

दूसरे दिन मैक्सवेल ने अपना पहला टेस्ट शतक पूरा किया, लेकिन उसके बाद वह ज्यादा देर टिक नहीं पाए और जडेजा ने उन्हें विकेटकीपर ऋद्धिमान साहा के हाथों 331 के कुल योग पर कैच कराया. उन्होंने अपनी पारी में 185 गेंदें खेलीं और नौ चौके तथा दो छक्के लगाए.

स्मिथ और मैक्सवेल के बीच हुई साझेदारी ऑस्ट्रेलिया की तरफ से भारत के खिलाफ भारत में पांचवें विकेट के लिए सबसे बड़ी साझेदारी भी है.

उनके जाने के बाद वेड (37) ने कप्तान का अच्छा साथ दिया. उनकी स्मिथ के साथ हुई साझेदारी को देखकर लग रहा था कि भोजनकाल तक मेहमान कोई और विकेट नहीं गिरने देंगे, लेकिन जडेजा ने पहला सत्र खत्म होने के कुछ देर पहले वेड और पैट कमिंस के विकेट एक ही ओवर में लेकर ऑस्ट्रेलिया को थोड़ा परेशान किया.

वेड ने स्मिथ के साथ मिलकर 64 रन जोड़े. जडेजा की खूबसूरत गेंद वेड के बल्ले का बाहरी किनारा लेकर साहा के दस्तानों में जा समाई. वह 395 के स्कोर पर आउट हुए. ऑस्ट्रेलिया के खाते में एक रन भी नहीं जुड़ा था कि जडेजा ने कमिंस को खाता खोले बगैर पवेलियन की राह दिखाई.

भोजनकाल के बाद स्मिथ को स्टीव ओ कीफ (25) का अच्छा साथ मिला. दोनों ने आठवें विकेट के लिए 51 रनों की अर्धशतकीय साझेदारी कर टीम का स्कोर 446 तक पहुंचाया. इसी स्कोर पर यादव ने ओकीफ को सीमारेखा पर विजय के हाथों कैच आउट कराया.

जडेजा ने आए नाथन लॉयन (1) और जोश हाजलेवुड (0) को अपना शिकार बना ऑस्ट्रेलियाई पारी को समाप्त किया.