टिहरी : इस सीमांत गांव की वर्षों पुरानी मांग हो रही है पूरी, अब आएंगे ‘अच्छे दिन’

टिहरी जिले के सीमांत गांव गंगी के लोगों के लिए जल्द ही अच्छे दिन आने वाले हैं. ग्रामीणों को सड़क सुविधा से जोड़ने के लिए 11 किमी. सड़क निर्माण शुरू हो गया है. सड़क बनने से लोगों को यातायात सुविधा का लाभ मिल जाएगा.

टिहरी जिले के सबसे सीमांत गांव गंगी के 500 लोगों का सालों से एक अदद सड़क का सपना अब साकार होने जा रहा है. छह हजार फीट की ऊंचाई पर बसे इस गांव में विकास की पहली सीढ़ी कही जाने वाली सड़क निर्माण कार्य आखिरकार शुरू हो गया है.

अलग राज्य बनने के बाद से यहां के ग्रामीण सड़क का सपना संजोए हुए थे. मोटर मार्ग न होने के कारण इस गांव में विकास की रफ्तार थम गई थी. सड़क के न बनने से गांव में अभी तक बिजली, संचार सेवा, पेयजल, स्वास्थ्य सुविधा, जैसे अन्य कई मूलभूत सुविधाओं से वंचित है.

अब जल्द गांव में सड़क का सपना साकार होने वाला है. ग्रामीण विकास मंत्रालय भारत सरकार से वित्तपोषित परियोजना के तहत घुत्तू-गंगी मोटर मार्ग के नाम से पीएमजीएसवाई विभाग ने गंगी के लिए मोटर मार्ग का निर्माण कार्य शुरू कर दिया है. कार्यदायी संस्था ने रीह से गंगी गांव तक 9.30 किमी तक मोटर मार्ग का निर्माण 467.68 लाख की लागत से किया जाना है और अनुबंध के अनुसार सड़क का निर्माण 2018 तक पूरा होना है.

मोटर मार्ग से जहां गंगी गांव की 11 किमी की पैदल दूरी कम होगी वही, गांव में विकास कार्य तेजी से आगे बढ़ने की भी उम्मीद है. साथ ही बाहर से आने वाले पर्यटकों की तादात मे भी बढोत्तरी होगी, यही नही गंगी से केदारनाथ, खतलिंग सहित अन्य कई तीर्थाटन व पर्यटन स्थलों को जाने के लिए सुविधा मिल पाएगी. यही नहीं ग्रामीण अपनी नगदी फसल आलू, राजमा, चौलाई आदि को मोटर मार्ग से आसानी से घुत्तू व घनसाली बाजार पहुंचा सकेंगे.

ग्राम प्रधान नैन सिंह बताते है कि सड़क बनने से गांव का चौमुखी विकास होगा और लोगों को रोजगार के साथ अन्य कई सरकार की योजनाओं का फायदा मिल पाएगा, पहले मोटर मार्ग के अभाव मे अभी तक योजना का लाभ ग्रामीणों को नहीं मिल पा रहा था.

पीएमजीएसवाई के अधिशासी अभियंता राजेश सिंह के अनुसार मोटर मार्ग पर त्वरित गति से कार्य किया जा रहा है और जल्द ही इसका निर्माण कार्य पूरा किया जाएगा ताकि ग्रामीणों को इसका लाभ मिल सके.