मुनस्यारी : भारी बर्फबारी में फंसे पर्यटक, मंदिर में बितानी पड़ी रात

भारी बर्फबारी से बंद हुए थल-मुनस्यारी मार्ग में कोलकाता से आए 12 पर्यटकों का दल फंस गया. सोमवार की रात काली मंदिर में बिताने के बाद नौ पर्यटक कालामुनि से ही वापस हो गए, जबकि तीन पर्यटक 17 किमी पैदल चलकर मंगलवार को मुनस्यारी पहुंचे.

दस मार्च की रात से मुनस्यारी के ऊंचाई वाले इलाकों में हिमपात हो रहा था। 11 मार्च को कोलकाता से काफी संख्या में पर्यटक मुनस्यारी आए थे. कालामुनि के पास तीन फुट से अधिक बर्फ होने और शाम होने पर पर्यटक न तो आगे बढ़ सके और न वापसी ही हो सकी. सभी ने रात नौ हजार फुट की ऊंचाई पर स्थित कालामुनि के काली मंदिर में बिताई.

मंदिर में रहने वाले मोहन गिरी बाबा ने पर्यटकों के रहने और भोजन की व्यवस्था की. पर्यटकों ने प्रशासन को भी अवगत कराया, लेकिन प्रशासन ने भी कोई सुध नहीं ली. चंदननगर, हावड़ा (कोलकाता) के सोमेंदु पाल के नेतृत्व में पहुंचे नौ सदस्य मार्ग को देखते हुए वापस लौट गए, जबकि सोमेंदु के साथ चंदननगर के ही दलीप चटर्जी व सुमित बनर्जी 17 किमी पैदल चलकर मुनस्यारी पहुंचे. उनके साथ एसबीआई शाखा मुनस्यारी के मैनेजर श्रीकांत भी थे.