चूरन लेबल के नकली नोट बैंक में जमा करने की कोशिश में एक गिरफ्तार

अब तक एटीएम से ‘चिल्ड्रन बैंक ऑफ इंडिया’ चूरन सीरीज के नोट निकलने के मामले सामने आ रहे थे, अब इन नोटों को बैंक में जमा करने की कोशिश का मामला सामने आया है. यह मामला तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद में सामने आया. पुलिस ने यह कोशिश करने वाले को हिरासत में ले लिया है.

दो हजार और 500 रुपये के नए नोट प्रचलन में आने के बाद ‘चिल्ड्रन बैंक ऑफ इंडिया’ लिखे हुए नोट बाजार में बिकने लगे हैं. इन नोटों को वैसे तो बच्चों के खेल के लिए इस्तेमाल किया जाता है, लेकिन असली नोटों से काफी हद तक मिलते-जुलते इन नोटों का दुरुपयोग जमकर होने लगा है. एटीएम से इन नकली नोटों के निकलने के कई मामले सामने आ चुके हैं.

हैदराबाद में मंगलवार को मानसिक रूप से अस्वस्थ एक व्यक्ति ने ‘चिल्ड्रन बैंक ऑफ इंडिया’ के प्रिंट वाले 9.91 लाख रुपये के अंकित मूल्य के नोटों को मंगलवार को पीएसयू बैंक में कथित तौर पर जमा कराने की कोशिश की. पुलिस ने बताया कि शेख यूसुफ 2000 और 500 रुपये के नोटों के साथ मल्काजगिरी इलाके में बैंक में गया. नोटों पर ‘चिल्ड्रन बैंक ऑफ इंडिया’ लिखा था. उसने कथित रूप से इन नोटों को अपने खाते में जमा कराने की कोशिश की.

बैंक के कैशियर ने यह नोट देख लिए और बैंक के वरिष्ठ अधिकारियों को इसकी सूचनी दी. इसके बाद बैंक ने पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराई. सहायक पुलिस आयुक्त जी संदीप के मुताबिक शेख यूसुफ ने स्टेशनरी की एक दुकान से नोट खरीदे थे. उसने उनकी फोटोकॉपी कराई और अपने खाते में उन्हें जमा कराने की कोशिश की. शुरुआती जांच के आधार पर शेख ‘मानसिक रूप से अस्वस्थ’ लग रहा है.

मल्काजगिरी पुलिस थाना निरीक्षक जानकी रेड्डी ने कहा कि उसने आरोपी के खिलाफ आईपीसी की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है और उसे हिरासत में ले लिया है. असली नोटों से मिलते-जुलते नकली नोट देश भर में दिखाई दे रहे हैं. इन पर प्रतिबंध लगाने की जरूरत है.