मणिपुर : एन. बिरेन सिंह ने ली मुख्यमंत्री पद की शपथ, आर्थिक नाकेबंदी हटाना प्राथमिकता

एन. बिरेन सिंह ने बुधवार को मणिपुर की पहली बीजेपी सरकार के मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ली. पिछले दिनों संपन्न हुए राज्य विधानसभा चुनाव में किसी पार्टी को स्पष्ट बहुमत नहीं मिल सका था.

राज्यपाल नजमा हेपतुल्ला ने इंफाल स्थित राजभवन में आयोजित एक समारोह में बिरेन सिंह को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई.

बीजेपी और उसकी गठबंधन सहयोगियों के भी कुछ सदस्यों ने मुख्यमंत्री बिरेन सिंह के साथ मंत्री पद की शपथ ली. नेशनल पीपुल्स पार्टी (एनपीपी) के विधायक वाई जयकुमार को उप-मुख्यमंत्री बनाया गया है.

बीजेपी के टी. विश्वजीत सिंह, एनपीपी के एल. जयंतकुमार सिंह, एल. हाओकिप और एन. कयिसी, नगा पीपुल्स फ्रंट (एनपीएफ) के एल. दिखो और लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के करम श्याम ने मंत्री पद की शपथ ली.

कांग्रेस से दल बदलकर बीजेपी में शामिल हुए टी. श्यामकुमार को भी मंत्री पद की शपथ दिलाई गई. बीजेपी महासचिव राम माधव और असम सरकार में मंत्री हिमंत बिस्वा सरमा सहित कई अन्य वरिष्ठ नेता शपथ-ग्रहण समारोह में मौजूद थे. निवर्तमान मुख्यमंत्री ओकराम इबोबी सिंह भी शपथ-ग्रहण समारोह में मौजूद थे.

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और केंद्रीय मंत्री एम. वेंकैया नायडू को शपथ-ग्रहण समारोह में हिस्सा लेना था, लेकिन वे नहीं पहुंच सके. दरअसल, वे जिस विमान में यात्रा कर रहे थे उसके इंजन में उड़ान के दौरान ही कोई गड़बड़ी आ गई, जिससे पायलट विमान को वापस दिल्ली ले गया.

नजमा ने मंगलवार को ही बिरेन सिंह को सरकार बनाने के लिए आमंत्रित किया था. मंगलवार को बिरेन सिंह को सर्वसम्मति से 21 सदस्यीय बीजेपी विधायक दल का नेता चुना गया था.

बीजेपी ने 60 सदस्यीय मणिपुर विधानसभा में 32 विधायकों के समर्थन से सरकार बनाने का दावा पेश किया.

आर्थिक नाकेबंदी को हटाना सर्वोच्च प्राथमिकता
बिरेन सिंह का कहना है कि उनकी सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता चार महीने पुरानी आर्थिक नाकेबंदी को हटाने की होगी, क्योंकि इससे लोगों को बहुत मुश्किलों का सामना करना पड़ा है.

शपथ ग्रहण के बाद सिंह ने मीडिया से कहा, ‘हमें इस संकट का जल्द से जल्द समाधान करना है.’ उप मुख्यमंत्री वाई जयकुमार सिंह ने कहा कि आर्थिक नाकेबंदी को हटाना सरकार के एजेंडा में सबसे ऊपर होगा.

पूर्व मुख्यमंत्री ओकराम इबोबी सिंह ने कहा कि उनकी पार्टी राज्य में रचनात्मक विपक्ष की भूमिका निभाएगी.