पर्रिकर के गोवा लौटने के बाद अरुण जेटली को रक्षा मंत्री का अतिरिक्त प्रभार

मनोहर पर्रिकर के गोवा का मुख्यमंत्री बनने के लिए रक्षा मंत्री के पद से इस्तीफा दे दिया है. पर्रिकर ने पीएम मोदी को अपना इस्तीफा सौंपा, पीएमओ ने उसके इस्तीफे को मंजूरी के लिए राष्ट्रपति के पास भेजा था, जिसे राष्ट्रपति ने मंजूर कर लिया.

वित्त मंत्री अरुण जेटली को रक्षा मंत्रालय का अतिरिक्त प्रभार दे दिया गया है. इससे पहले भी अरुण जेटली के पास रक्षा मंत्रालय का प्रभार था. गोवा विधानसभा चुनाव के बाद तेजी से बदले सियासी घटनाक्रम में रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने रक्षा मंत्री के पद से इस्तीफा दे दिया था.

पर्रिकर मंगलवार को 14 मार्च की शाम पांच बजे गोवा के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे. बीजेपी को समर्थन देने वाली एमजीपी के नेता सुधीर ढवलीकर को उपमुख्य‍मंत्री बनाया जा सकता है.

इससे पहले गोवा की राज्यपाल मृदुला सिन्हा ने बीजेपी नेता और केंद्रीय रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर को सरकार बनाने का न्योता दिया. पर्रिकर ने रविवार को ही राज्यपाल से मुलाकात कर सरकार बनाने का दावा पेश किया था. राज्यपाल ने शपथ ग्रहण के बाद 15 दिनों के भीतर पर्रिकर को बहुमत साबित करने को कहा है.

बीजेपी को गोवा की सत्ता में लाने के लिए 9 विधायकों की जरूरत है. ऐसे में भाजपा को अपने पुराने सहयोगी एमजीपी के समर्थन की उम्मीद थी, जो कि पर्रिकर के सीएम कैंडिडेट बनने के बाद और मजबूत हो गई. ढवलीकर के मनोहर पर्रिकर और बीजेपी से बरकरार रिश्तों में खटास तब आयी जब लक्ष्मीकांत पार्सेकर को गोवा का मुख्यमंत्री बनाया गया था.