हरीश रावत ने भी हार के लिए EVM को ठहराया दोषी, बोले- ‘मोदी क्रांति और EVM चमत्कार को स्वीकरते हैं’

उत्तराखंड विधानसभा चुनाव 2017 में कांग्रेस का सूपड़ा साफ होने और खुद के दोनों सीटों पर हारने के बाद पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि वह मोदी क्रांति और ईवीएम चमत्‍कार को वह स्‍वीकार करते हैं. गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश में बीएसपी के सिर्फ 19 सीटों पर सिमट जाने पर मायावती ने भी ईवीएम पर उंगली उठायी थी, जिसका चुनाव आयोग ने करार जवाब दिया है।

प्रेस वार्ता करते हुए कार्यवाहक मुख्यमंत्री हरीश रावत ने चुनावों में हार की जिम्मेदारी ली. उन्‍होंने कहा मेरे नेतृत्व में चूक हुई होगी. उन्‍होंने राज्य में मोदी क्रांति व ईवीएम चमत्‍कार को नमस्कार किया. कहा चुनाव में पैसा खर्च करने की सीमा होनी तय होनी चाहिए. उन्‍होंने अपनी उपलब्धियां भी गिनाईं.

उधर, कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय ने कहा कि जिस तरह से पैसे और अन्य संसाधन बीजेपी ने लगाए, उससे नतीजों पर असर पड़ा. साथ ही उन्होंने कहा कि कहीं न कहीं हमारी रणनीति में कमी रही है.

उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में जनादेश ही सर्वोपरि होता है. कांग्रेस पार्टी जनता के आदेश का सम्मान करती है. उन्होंने बीजेपी नेतृत्व से आशा व्यक्त की कि वे बिना किसी राजनीतिक विद्वेश के राज्य के विकास को आगे बढ़ाने का काम करेंगे. साथ ही उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी राज्य के मुख्य विपक्षी दल के रूप में राज्य के विकास में सरकार का पूर्ण सहयोगी करेगी.