अमेरिका और उत्तर कोरिया के बीच टकराव, USA ने चीन के प्रस्ताव को ठुकराया

अमेरिका के विदेश मंत्रालय के कार्यवाहक प्रवक्ता मार्क टोनर का कहना है कि दक्षिण कोरिया और अमेरिका के बीच के रक्षा सहयोग की तुलना उत्तर कोरिया द्वारा अंतरराष्ट्रीय नियमों के प्रति दिखाई गई ‘मुखर अवज्ञा’ से नहीं की जा सकती.

कोरियाई प्रायद्वीप में तनाव कम करने के लक्ष्य से दिए गए चीन के प्रस्ताव को अमेरिका ने ठुकरा दिया है. अमेरिका ने कहा है कि उत्तर कोरिया को उसके परमाणु कार्यक्रम पर रोक लगाने के लिए राजी करने की पिछली सभी कोशिशें नाकाम हो चुकी हैं और अब ‘दूसरे तरीके’ तलाशने की जरूरत है.

टोनर ने कहा कि प्योंगयोंग का व्यवहार विवेकपूर्ण नहीं रहा है और दुनिया को यह समझने की जरूरत है कि उत्तर कोरिया का परमाणु कार्यक्रम सिर्फ ‘अमेरिका और उत्तर कोरिया के बारे में नहीं है’ और ‘हर देश को सोचना चाहिए कि हम बेहतर ढंग से कैसे प्रतिक्रिया दे सकते हैं.’

टोनर ने कहा, ‘उत्तर कोरिया को अर्थपूर्ण बातचीत के लिए राजी करने की दिशा में अब तक किए गए सभी प्रयास..चाहे वह छह पक्षों की बातचीत हो या फिर प्रतिबंध सभी तरह के प्रयास नाकाम हुए हैं. इसलिए हमें उन्हें राजी करने के लिए नए तरीके तलाशने होंगे. हमें उन्हें मनाना होगा कि यह उनके भी हित में है.