मसूरी, केदारनाथ, धनौल्टी, औली सहित पहाड़ों में बर्फबारी और मैदानी इलाकों में बारिश से ठिठुरन बढ़ी

उत्तराखंड में बारिश और बर्फबारी के बाद एक बार फिर से सर्दी का सितम लौट आया है. पहाड़ी इलाकों में हिमपात और मैदानों में गुरुवार सुबह से ही बारिश जारी है. भोले बाबा के पवित्र धाम केदारनाथ में भी सुबह से ही बर्फबारी हो रही है.

केदारनाथ में सुबह से दो फीट से ज्यादा बर्फबारी हो चुकी है. बारिश और बर्फबारी के कारण ठंड भी बढ़ गई है. चमोली जिले के निचले इलाकों में भी बारिश जारी है. ऊपरी इलाकों में बर्फबारी हो रही है. बद्रीनाथ हेमकुंड, रुद्रनाथ और औली में भी जमकर बर्फबारी हो रही है. इस बीच जिले की कर्णप्रयाग सीट पर मतदान भी चल रहा है.

पहाड़ों की रानी मसूरी में हल्की बारिश से ठिठुरन बढ गई है. ठंड से बचने के लिए लोग अलाव का सहारा ले रहे हैं. वहीं धनौल्टी के बुरांशखंडा क्षेत्र में जमकर हिमपात होने से किसानों और पर्यटकों के चेहरे खिल उठे हैं. बर्फबारी से क्षेत्र में ठंडी हवाएं तेज हो गई हैं. काफी समय बाद मार्च के महीने में मसूरी में बर्फबारी हुई है. अगले कुछ दिन बारिश और बर्फबारी की संभावना जताई गई है.

अमूमन मार्च के महीने में इस क्षेत्र में बर्फ लंबे समय से नहीं पड़ रही थी. बर्फ पड़ने से पर्यटकों सहित स्थानीय पर्यटन व्यवसाय से जुड़े लोगों में खुशी देखने को मिली है.

बुरांशखंडा के पर्यटन व्यवसायी से जुड़े सुरेश कुमार का कहना है कि मार्च में पिछले कई सालों के बाद हिमपात हुआ है. हिमपात के बाद क्षेत्र में सैलानियों के आने से पर्यटन व्यवसाय को लाभ मिलेगा. वहीं स्थानीय काश्तकार गंभीर सिंह पंवार ने कहा कि बर्फ खेती के लिए अच्छी है.

पर्यटन के साथ ही खेती के लिए स्थानीय किसान बर्फ को शुभ मान रहे हैं. बर्फ पड़ने से किसानों के चेहरे खिल उठे हैं. ऐसे में हम तो आपसे यही कहेंगे कि अगर आप भी बर्फ का लुत्फ उठाने चाहते हैं तो चले आइये बुरांशखंडा, धनोल्टी और बर्फ का जमकर लुत्फ लीजिए.