दिल्ली : माता-पिता बने दधीचि सात दिन के बच्चे के अंग किए दान

दिल्ली के एक अस्पताल में दिल का दौरा पड़ने से अपने सात दिन के नवजात बेटे की मौत के बाद उसके माता-पिता ने चिकित्सा शोध के लिए उसके अंगदान कर एक मिसाल पेश की. सूरज और आंचल गुप्ता के बेटे का जन्म 1 मार्च को मैक्स अस्पताल, पटपड़गंज में हुआ था. हालांकि उनकी खुशियां ज्यादा देर तक टिक नहीं पाईं क्योंकि बेटे के जन्म के कुछ घंटों बाद ही उन्हें बताया गया कि बच्चे की धमनियों में कुछ समस्या है, जिसे बाद में हल्का दिल का दौरा भी पड़ा.

इसके बाद परिवार ने बच्चे को एम्स में शिफ्ट किया. सातवें दिन बच्चे की ओपन हार्ट सर्जरी की गई जो छह घंटे तक चली. दिल्ली स्थित गैर सरकारी संगठन दधीचि देह दान समिति द्वारा जारी बयान में कहा गया, ‘एम्स के डॉक्टरों ने बच्चे को बचाने की हरसंभव कोशिश की लेकिन उसे बचाया नहीं जा सका.’

परिवार के कुछ सदस्यों के विरोध के बावजूद परिवार ने उसके अंगदान किए. दधीचि देह दान समिति के जरिये उन्होंने एम्स के शरीर रचना विभाग को चिकित्सकीय शिक्षा के उद्देश्य के लिए देह दान कर दिया