स्मिथ के DRS बेईमानी विवाद में उलझे BCCI और क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया, ICC ने सुनाया ये फैसला

बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी के तहत बेंगलुरू में खेले गए दूसरे टेस्ट के दौरान ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीवन स्मिथ-डीआरएस विवाद ने एक दिन के अंदर ऐसा विशाल रूप ले लिया, जिसकी शायद ही किसी को उम्मीद रही होगी. आलम ये रहा कि दोनों देशों के क्रिकेट बोर्ड भी सीधे तौर पर न सही लेकिन अपने बयानों के जरिए एक-दूसरे को जवाब देने में लगे हुए हैं. आखिरकार अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आइसीसी) ने भी इस मामले में हस्तक्षेप किया और अपना फैसला सुना दिया है.

गौरतलब है कि मैच के चौथे दिन अपनी दूसरी पारी में आउट होने के बाद रिव्यू लेने के लिए स्मिथ ने ड्रेसिंग रूम की ओर इशारा किया था. ये नियमों के खिलाफ था, इसलिए दोनों टीमों के कप्तान (कोहली और स्मिथ) के बीच पिच पर अच्छी खासी बहस देखने को मिली.

हालांकि अंत में स्मिथ को पवेलियन लौटना पड़ा और बाद में माफी भी मांगनी पड़ी. उधर, दोनों कप्तान तो शांत हो गए, लेकिन दोनों देशों के क्रिकेट बोर्ड भिड़ गए. एक तरफ बीसीसीआइ ने आइसीसी से मामले में दखल देने की मांग कर डाली तो दूसरी तरफ क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (सीए) ने बयान जारी कर अपने कप्तान को निर्दोष बता डाला.

क्लिक करें और पढ़ें – ये रहा ऑस्ट्रेलिया की बेईमानी का सुबूत

बीसीसीआइ ने ये तक कहा कि स्टीवन स्मिथ ने अपनी गलती मानी है और इस बात पर आइसीसी को गौर करना चाहिए. जबकि क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने अपने कप्तान का बचाव किया और उनके सीइओ जेम्स सदरलैंड की स्मिथ की इमानदारी पर सवाल उठा बहुत गलत होगा.

आईसीसी ने सुनाया ये फैसला
विवाद गरम होता जा रहा था और सबकी नजरें आइसीसी पर टिकी थीं कि क्या स्मिथ या कोहली पर कोई एक्शन लिया जाएगा. आइसीसी ने आखिरकार अपना फैसला सुना दिया है. आइसीसी ने साफ कर दिया कि दोनों कप्तानों के खिलाफ किसी ने चार्ज नहीं लगाया गया है, इसलिए कोई कार्रवाई नहीं की जाएगी.

आइसीसी ने लिखित बयान के जरिए अपने इस फैसले का ऐलान किया. वहीं, आइसीसी के चीफ एक्जीक्यूटिव डेविड रिचर्ड्सन ने टीमों का मनोबल बढ़ाते हुए कहा कि वो चाहते हैं कि दोनों टीमें अपनी सारी ताकत रांची में होने वाले तीसरे टेस्ट में लगाएं.