भोपाल-उज्जैन पैसेंजर ट्रेन ब्लास्ट में हुआ था पाइप बम इस्तेमाल । मोबाइल से सीरिया भेजी गई बम की तस्वीरें

आतंकियों ने भोपाल-उज्जैन पैसेंजर ट्रेन में मंगलवार सुबह हुए आतंकी हमले में ब्लास्ट के लिए पाइप बम का इस्तेमाल किया था. इसके साथ ही बम की तस्वीरें सीरिया भेजी गई थीं. खुफिया एजेंसियों के मुताबिक, भोपाल-उज्जैन पैसेंजर में बम ब्लास्ट के लिए अमोनियम नाइट्रेट का इस्तेमाल हुआ था. हमले को आतंकी संगठन आईएसआईएस के मॉड्यूल ने अंजाम दिया है. देश में पहली बार आईएस का कोई मॉड्यूल आतंकी हमले में कामयाब रहा है. अमोनियिम नाइट्रेट का इस्तेमाल आतंकी बड़े विस्फोट के लिए करते हैं. इसे तीन संदिग्ध चार अलग-अलग बैग में रखकर ट्रेन में लाए थे. एक ही बैग में लो इंटेंसिटी का विस्फोट हुआ.

भोपाल-उज्जैन पैसेंजर में बम ब्लास्ट होते ही देश भर में इंटेलिजेंस एजेंसियां सक्रिय हो गईं. तेलंगाना पुलिस ने मध्य प्रदेश और यूपी पुलिस को इसके संबंध में कई अहम इनपुट दिया. इसके बाद ही मध्य प्रदेश पुलिस ने पिपरिया में तीन युवकों को गिरफ्तार कर लिया. इनसे पूछताछ के आधार यूपी एटीएस ने लखनऊ सहित कई जगहों पर अपनी कार्रवाई शुरू कर दी. कानपुर से फैसल खां, इमरान और इटावा से फकरे आलम नामक संदिग्धों को पकड़ा गया.

सूत्रों के मुताबिक, तेलंगाना पुलिस ने ट्रेन बम ब्लास्ट के कुछ देर बाद ही आतंकियों के नाम सहित लखनऊ, कानपुर और कई शहरों में इनके छिपने के ठिकाने बता दिए. इसके बाद लखनऊ में एटीएस ने आतंकी सैफुल्ला को घेर लिया. उससे सरेंडर के लिए कहा गया, लेकिन उसने कहा कि वह सरेंडर करने के बजाय मरना पसंद करेगा. करीब 11 घंटे तक चले इस ऑपरेशन के बाद सैफुल्ला को मार गिराया गया है. हालांकि, पुलिस उसे जिंदा पकड़ना चाहती थी.