बलात्कार के आरोपी ने इलाज के दौरान लगाई छलांग हुई मौत

काशीपुर निवासी अकील (22 वर्ष) को अक्टूबर 2016 में रामनगर थाना पुलिस ने किशोरी के अपहरण और दुष्कर्म के आरोप में गिरफ्तार किया था. 10 अक्टूबर को उसे हल्द्वानी की जेल में लाया गया. जेल प्रशासन के मुताबिक उसे मिर्गी के दौरे पड़ने की शिकायत थी. 28 फरवरी को हालत बिगड़ने पर अकील को बेस अस्पताल में भर्ती किया गया

दो मार्च को उसे सुशीला तिवारी अस्पताल रेफर कर दिया गया। उसे तीसरी मंजिल के डी वार्ड में भर्ती किया गया था। उसकी सुरक्षा में दो पुलिस कर्मी थे .बीते रोज उसकी दो कथित बहनें भी साथ में थी. रात करीब दो बजे उसने हथकड़ी कलाई से निकलकर दौड़ लगा दी. जवान पीछे दौड़े तो उसने टूटे हुए रोशनदान से कूद मार दी.

पीछे से ही उसकी कथित बहन ने भी रोशनदान से छलांग लगा दी.अकील की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि बहन का पैर टूट गया है। इस घटना से पुलिस और जेल प्रशासन में हड़कंप मचा है। साथ में रुकी एक बहन घटना के बाद से लापता है. पुलिस उसके घर वालो से संपर्क करने का प्रयास कर रही है