काशी विश्वनाथ मंदिर में अखिलेश यादव के बैठने की मुद्रा पर बवाल, ट्विटर के जरिए उठे सवाल

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव की जंग अब आखिरी चरण में पहुंच चुकी है. बनारस में भी चुनाव आखिरी चरण में ही होना है और तमाम राजनीतिक पार्टियों ने यहां अपनी पूरी ताकत झौंक दी है. आरोप-प्रत्यारोप का दौर भी पूरे शबाब पर है. इसी क्रम में काशी विश्वनाथ मंदिर में पूजा के दौरान अखिलेश यादव के बैठने के तरीके पर बीजेपी के नेता अमित मालवीय ने सवाल उठाया है.

अमित मालवीय ने अखिलेश यादव के पूजा करने के दौरान का वीडियो अपने ट्विटर पेज से शेयर किया तो उस पर लोगों के कमेंट आने शुरू हो गए. कुछ ट्विटर यूजर कह रहे हैं कि अखिलेश यादव नमाज की मुद्रा में मंदिर में बैठे थे. वीडियो देखकर कुछ लोग ये भी ट्वीट कर रहे हैं कि मंदिर के पुजारी के टोकने पर अखिलेश यादव ने अपने बैठने की मुद्रा को बदला.

अमित मालवीय ने अपने ट्वीट में सीएम अखिलेश यादव के पूजा के दौरान का वीडियो शेयर करते हुए लिखा, हार के डर से ही सही, ‘अखिलेश और राहुल मंदिर तो गए, कुछ नया सीखा.’ मालवीय के इस ट्वीट के बाद लोगों ने क्या कमेंट किए नीचे पढ़िए.

मालूम हो कि उत्तर प्रदेश के आखिरी चरण में 40 सीटों पर वोटिंग होनी है. सातवें चरण में आठ मार्च को वोट डाले जाएंगे। वाराणसी क्षेत्र में 80 प्रतिशत हिन्दू आबादी है. वहीं शहर में मुस्लिमों की जनसंख्या भी खासी है. सीट बंटवारे को लेकर वाराणसी में बीजेपी में नाराजगी की खबरें आती रही हैं. शायद इसे ही दूर करने के लिए बीजेपी ने यहां से सांसद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का इस्तेमाल प्रचार में जमकर कर रही है.

प्रधानमंत्री के गढ़ में ताकत दिखाने के लिए सीएम अखिलेश यादव और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी मिलकर भी कोशिश कर रहे हैं. 11 मार्च को पांचों राज्यों के नतीजे आने हैं.