पीएम मोदी के वाराणसी में रोड शो पर विपक्ष ही नहीं, अपनों ने भी उठाए सवाल

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का शनिवार को बनारस में रोडशो करना विपक्ष को पसंद नहीं आया, लेकिन सरकार में सहयोगियों को भी यह रास नहीं आ रहा है. केन्द्रीय मानव संसाधन विकास राज्य मंत्री उपेन्द्र कुशवाहा ने कहा है कि प्रधानमंत्री का रोडशो जैसे कार्यक्रम में उतरना सही नहीं है.

कुशवाहा ने कहा कि यूपी में बीजेपी निश्चित रूप से चुनाव जीत रही है, लेकिन विधानसभा चुनाव में प्रधानमंत्री का रोड शो करना सही नहीं है. उन्‍होंने कहा कि प्रधानमंत्री का रैली करना तो वाजिब है, लेकिन रोडशो नहीं. बता दें कि इससे पहले उपेन्द्र कुशवाहा की राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) ने यूपी विधानसभा चुनाव में करीब 100 सीटों पर चुनाव लड़ने का मन बनाया था, लेकिन प्रधानमंत्री के हस्तक्षेप के बाद पार्टी पीछे हट गई.

वैसे उत्तर प्रदेश में अभी अंतिम दौर का मतदान बाकी है और ऐसे में सरकार के सहयोगियों द्वारा इस तरह खुलेआम आलोचना करना विपक्ष को बैठे बिठाए एक नया मुद्दा दे सकता है. खबरों के अनुसार इसमें सरकार से नाराजगी जैसी कोई बात नहीं है लेकिन प्रधानंमंत्री जैसे गरिमा वाले पद पद बैठे व्‍यक्ति का ऐसे रोडशो करना शोभा नहीं देता. फिलहाल लोकसभा में इस पार्टी के तीन सांसद हैं और इनकी नाराजगी या फिर खुशी से सरकार की सेहत पर कोई असर नहीं पड़ता है.

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ससंदीय क्षेत्र में प्रधानमंत्री का रोड शो कर अपनी ताकत का एहसास कराया. प्रधानमंत्री का रोड शो रविवार को भी होगा. यही नहीं वह पांच मार्च को वाराणसी में जनसभा भी करेंगे. प्रदेश मीडिया प्रभारी हरिश्चंद्र श्रीवास्तव ने बताया, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पांच मार्च को दोपहर तीन बजे पांडेयपुर चौराहा से रोड-शो प्रारंभ कर चौकाघाट, तेलियाबाग, मलदहिया, पटेलचौक होते हुए 5.30 बजे महात्मा विद्यापीठ पहुंचेंगे, जहां विजय शंखनाद रैली को संबोधित करेंगे और 8.30 बजे शाम डीएलडब्लू में प्रबुद्ध मिलन कार्यक्रम में भाग लेंगे.’ उन्होंने बताया कि रविवार को प्रधानमंत्री रात्रि विश्राम अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में करेंगे.

शनिवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के रोडशो में बड़ी संख्‍या में लोगों ने हिस्‍सा लिया. प्रधानमंत्री की एक झलक पाने के लिए वाराणसी की सड़कों पर जनसैलाब उमड़ पड़ा. पीएम ने प्रसिद्ध काशी विश्वनाथ मंदिर और काल भैरव मंदिर में पूजा अर्चना भी की और हिन्दुत्व विचारक पंडित मदन मोहन मालवीय की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित की. प्रधानमंत्री मोदी का रोडशो बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय से शुरू हुआ जहां उन्होंने हिन्दुत्व विचारक पंडित मदन मोहन मालवीय की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित की.

कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के रोड शो पर अपना विरोध जताया और चुनाव आयोग से इसकी शिकायत की है. कांग्रेस का कहना है कि राहुल-अखिलेश यादव व डिंपल यादव के रोड शो के लिए बकायदा जिला प्रशासन से अनुमति ली गयी, जबकि बीजेपी ने बिना अनुमति के ही रोड शो किया. इसलिए बीजेपी पर कार्रवाई होनी चाहिए. कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव राणा गोस्वामी ने कहा कि चुनाव आयोग के नियम कानून सब के लिए एक समान है. यदि प्रधानमंत्री जी ने रोड शो की अनुमति नहीं ली है तो यह गलत है.