IndvsAus बेंगलुरू टेस्ट : कंगारूओं के खिलाफ वापसी के इरादे से उतरेगी ‘विराट’ सेना

टीम इंडिया-फाइल फोटो

सीरीज के पहले मैच में अप्रत्याशित हार झेलने वाली भारतीय टीम शनिवार को जब एम. चिन्नास्वामी स्टेडियम में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दूसरा मैच खेलने उतरेगी तो उसकी कोशिश पिछली कमियों में सुधार लाते हुए सीरीज में वापसी करने पर होगी. वहीं सीरीज से पहले कमजोर समझी जा रही ऑस्ट्रेलिया के हौसले पहले टेस्ट में मिली जीत के बाद बुलंद हैं.

नंबर-1 टेस्ट टीम भारत के कप्तान विराट कोहली की यह अब तक की सबसे बड़ी परीक्षा भी होगी. कोहली ने जब से टीम की बागडोर संभाली है, तब से भारत इतने दबाव वाला मैच पहली बार खेलेगा. पुणे में ऑस्ट्रेलिया ने भारत के 19 मैचों के अपराजित सफर पर विराम लगा दिया था.

भारी उम्मीदों के बीच भारत के सामने सबसे उहापोह वाली स्थिति यह है कि इस बार घरेलू विकेट पर स्पिन का उनका हथियार उल्टा पड़ गया है. पुणे टेस्ट में ऑस्ट्रेलियाई स्पिन गेंदबाज स्टीव ओकीफ ने 12 विकेट चटकाकर तीन दिन के अंदर भारत को घुटने टेकने पर मजबूर कर दिया था.

हालांकि क्रिकेट विशेषज्ञों का कहना है कि बेंगलुरू की पिच पुणे से भिन्न होगी. मैच से दो दिन पहले विकेट से घास हटाई गई है. बेशक यह स्पिन की मददगार होगी, लेकिन पुणे की तरह नहीं. इस विकेट से तेज गेंदबाजों को भी मदद मिलने की संभावना है.

इस स्थिति को देखकर भारतीय टीम में कुछ बदलाव भी देखने को मिल सकते हैं. बल्लेबाजी को मजबूत करने के लिए करुण नायर को शामिल किया जा सकता है. वह जयंत यादव की जगह ले सकते हैं.

हार्दिक पांड्या कंधे की चोट के कारण उपल्बध नहीं हैं. तेज गेंदबाजों में भुवनेश्वर को कुमार टीम में जगह मिल सकती है. मध्यक्रम में अंजिक्य रहाणे की जगह पक्की होने के साफ संकेत मुख्य कोच अनिल कुंबले दे चुके हैं.

दूसरी ओर मैच की पूर्व संध्या पर संवाददाता सम्मेलन में ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीवन स्मिथ ने साफ कर दिया है कि वह अंतिम एकादश में कोई बदलाव नहीं करेंगे.

ओकीफ पर एक बार फिर सभी की नजरें होगीं. लेकिन मिशेल स्टार्क और जोस हाजलेवुड भारत के लिए परेशानी खड़ी कर सकते हैं. बेंगलुरू की पिच पर रिवर्स स्विंग मिलने की संभावना है. ऐसी स्थिति में स्टार्क मेजबानों के लिए सबसे बड़ा खतरा बन सकते हैं.

मैदान का रिकार्ड को देखते हुए ऑस्ट्रेलियाई टीम का पलड़ा भारी है. ऑस्ट्रेलिया ने बेंगलुरू में दो मैच जीते हैं, दो ड्रॉ रहे हैं जबकि एक में उन्हें हार मिली है. वहीं भारत ने ऑस्ट्रेलिया को इस मैदान पर सिर्फ एक बार हराया है.

भारत को यहां खेले गए 21 मैचों में से छह में जीत और इतने मैचों में ही हार मिली है, जबकि नौ मैच ड्रॉ रहे हैं. दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेला गया अंतिम मैच ड्रॉ रहा था.

टीम इस प्रकार हैं :-
भारत (संभावित) :- विराट कोहली (कप्तान), मुरली विजय, लोकेश राहुल, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे, ऋद्धिमान साहा (विकेटकीपर), रविचंद्रन अश्विन, रवींद्र जडेजा, इशांत शर्मा, भुवनेश्वर कुमार, उमेश यादव, करुण नायर, जयंत यादव, कुलदीप यादव, अभिनव मुकुंद।

आस्ट्रेलिया : डेविड वार्नर, मैट रेनशॉ, शॉन मार्श, स्टीवन स्मिथ, पीटर हैंड्सकाम्ब, मिशेल मार्श, मैथ्यू वेड, मिशेल स्टार्क, स्टीव ओकीफ, नेथन लॉयन और जोस हाजलेवुड।