हल्द्वानी: डीएम दीपक रावत ने फिर पेश किया उदाहरण । घायल महिला को स्वयं पहुंचाया अस्पताल

नेक काम करने के लिए सिर्फ सही नीयत की जरूरत होती है जिसको इस बार उदहारण के तौर पर पेश किया खुद नैनीताल के जिलाधिकारी दीपक रावत ने. जब वह नैनीताल से हल्द्वानी आ रहे थे, उन्हें शीशमहल के पास एक महिला जिसका नाम कमरूनिशा उम्र लगभग 55 साल घायल अवस्था में मिली, जिसको स्वयं उन्होनें बेस चिकित्सालय लाकर इलाज हेतु भर्ती कराया।

कमरूनिशा काठगोदाम विद्युत बिल जमा करने हेतु जा रही थी कि अचानक एक स्कूटी से उसकी टक्कर हो गयी, जिससे उसके दाहिने पांव में फ्रैक्चर आ गया। जिलाधिकारी ने चिकित्सकों को निर्देश दिये कि वें महिला का तुरन्त निःशुल्क इलाज करें। जिस पर बेस चिकित्सालय के चिकित्सकों द्वारा महिला के पांव पर प्लास्टर किया गया व आगे के इलाज हेतु उच्च चिकित्सालय सुशीला तिवारी रैफर किया गया।

जिलाधिकारी ने सुशीला तिवारी चिकित्सालय में दूरभाष पर चिकित्सकों से वार्ता कर कमरूनिशा का उचित इलाज प्राथमिकता से करने के निर्देश दिये। किसी प्रकार की परेशानी आने पर उन्हें फोन द्वारा अवगत कराने के भी निर्देश दिये।