‘भारत ने एक साथ 104 उपग्रह अंतरिक्ष में भेजे, हम पिछड़ते दिखने का खतरा मोल नहीं ले सकते’

वाशिंगटन।… अमेरिका की खुफिया एजेंसी सीआईए सहित देश की सभी खुफिया एजेंसियों के प्रभारी पद की दौड़ में सबसे आगे चल रहे शख्स ने कहा है कि वह यह पढ़कर ‘स्तब्ध’ रह गए थे कि भारत ने गत महीने एक बार में 100 से ज्यादा उपग्रहों का सफल प्रक्षेपण किया.

पूर्व सांसद डान कोट्स ने राष्ट्रीय खुफिया एजेंसी के निदेशक के पद पर पुष्टि के लिए अपनी पेशी के दौरान सांसदों से कहा, ‘मैं यह पढ़कर स्तब्ध हो गया था कि भारत ने एक रॉकेट पर 100 से ज्यादा उपग्रहों को अंतरिक्ष में स्थापित किया.’ उन्होंने कहा कि अमेरिका इससे पिछड़ते हुए दिखाई देने का खतरा मोल नहीं ले सकता.

कोट्स ने कहा, वे अलग-अलग कार्यों के साथ आकार में छोटे हो सकते हैं, लेकिन एक रॉकेट इन्हें भेज सकता है, मुझे लगता है कि उसमें 104 प्लेटफार्म थे. कोट्स के नाम की अगर संसद से पुष्टि हो जाती है तो वह सीआईए समेत अमेरिका की सभी बड़ी खुफियां एजेंसियों के प्रभारी होंगे.

गौरतलब है कि भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने 15 फरवरी को आंध्र प्रदेश के श्रीहरिकोटा अंतरिक्ष केन्द्र से एक रॉकेट पर रिकॉर्ड 104 उपग्रहों का सफल प्रक्षेपण किया था.