उत्तरकाशी से गायब हुईं दो नाबालिग दलित लड़कियों में से एक हरियाणा में मिली, दूसरी की तलाश जारी

उत्तरकाशी जिले के बड़कोट क्षेत्र से आठ दिन पहले लापता हुई दो नाबालिग दलित लड़कियों की मानव तस्करी के संदिग्ध मामले में भारी दबाव झेल रही पुलिस को एक लड़की को हरियाणा के जींद जिले से बरामद करने में सफलता हासिल हुई है.

बड़कोट के पुलिस थानाध्यक्ष संतोष कुंवर ने बताया कि दूसरी लड़की की बरामदगी के लिए भी पुलिस एक महिला पर दबाव बनाये हुए है.

उन्होंने बताया कि मामले के जांच अधिकारी पुलिस उपनिरीक्षक रवि प्रसाद के शक के दायरे में आई महिला की निशानदेही पर एक पुलिस टीम को हरियाणा के जींद रवाना किया गया. वहां से दर्शन लाल की नाबालिग बेटी को बरामद कर लिया गया है.

उन्होंने कहा कि जग्गूलाल की पुत्री की बरामदगी के लिए भी पुलिस दवाब बनाए हुए है. कुंवर ने दावा किया कि जल्दी ही दोनों लड़कियों को बरामद कर अदालत में पेश किया जाएगा.

गौरतलब है कि 20 फरवरी को बड़कोट के पौंटी गांव से लापता हुई 15 और 16 वर्ष की उम्र की दोनों लड़कियों के मामले को दर्ज करने में थाना पुलिस आठ दिन तक हीला-हवाली करती रही. लड़कियों के परिजनों ने आरोप लगाया था कि रिश्तेदारी की आड़ में पौंटी गांव में हरियाणा से कुछ लोग आए थे, जो लड़कियों को बरगलाकर अपने साथ ले गए.

हालांकि, उत्तरकाशी के पुलिस अधीक्षक ददन पाल ने मामले के संज्ञान में आने पर सख्त रुख अपनाते हुए पुलिस थानाध्यक्ष को तुरंत मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई करने के निर्देश दिए. इसके बाद थाना पुलिस ने मंगलवार को भारतीय दंड विधान की धारा 363 के तहत अपहरण का मामला दर्ज किया था.