भारत किसी भी रासायनिक-जैविक हमले से निपटने के लिए तैयार – मनोहर पार्रिकर

डीआरडीओ के एक कार्यक्रम में रक्षामंत्री मनोहर पार्रिकर ने कहा है कि अफगानिस्तान और उत्तरी हिस्सों से कई ऐसी रिपोर्ट आ रही हैं, मैंने तस्वीरों में देखा कि स्थानीय लोगों के शरीर पर चकत्ते या किसी तरह के केमिकल वेपंस से प्रभावित थे। तस्वीरें विचलित करने वाली थीं। उन्होंने यह बात मीडिया रिपोर्ट्स के हवाले से पाक सीमा से सटे अफगानिस्तान में केमिकल वेपन्स के इस्तेमाल पर कही।

पर्रिकर ने यह भी कहा कि वह इस वक्त इस मुद्दे की पुष्टि नहीं कर सकते, लेकिन देश को किसी भी किस्म की जंग के लिए तैयार रहना चाहिए। उन्होंने कहा कि चाहें परमाणु, रासायनिक या जैविक हमलों का खतरा हो या न हो, लेकिन हम भविष्य में किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयार हैं।

उधर, विदेश मंत्रालय ने अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में हुए बम धमाकों की कड़ी निंदा की है। विदेश मंत्रालय ने कहा है भारत भी आतंकवाद से पीड़ित देश है। हम अफगानिस्तान के लोगों का दर्द समझ सकते हैं। गौरतलब है कि बुधवार को राजधानी काबुल में हुए बम धमाकों में दर्जनों लोग मारे गए थे। वहीं सैंकड़ों लोग घायल हुए थे। पर्रिकर ने आर्मी पेपर लीक पर कहा है कि इसकी इंटरनल इन्क्वायरी चल रही है। मिनिस्ट्री ने सीबीआई जांच की सिफारिश भी की है।