मसूरी: ‘डहलिया हाउस’ मामले में सुनवाई 2 मार्च को

हाईकोर्ट ने क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर के दोस्त संजय नारंग की मसूरी में खरीदी गई संपत्ति डहलिया हाउस मामले में सुनवाई करते हुए अगली तिथि दो मार्च नियत कर दी है.

कोर्ट ने छावनी परिषद मसूरी को इंजीनियर की तैनाती कर संजय नारंग द्वारा किए गए अतिक्रमण व अवैध निर्माण का मूल्यांकन करने का सुझाव दिया है.

मसूरी लंढौर निवासी संजय नारंग ने याचिका दायर कर कहा था कि उनके द्वारा 2008-09 में आरएल दुग्गन से डहलिया हाउस खरीदा गया, जिसके लिए केंद्र सरकार से कोई अनुमति नही ली गई थी. इसलिए इन नाम का दाखिल खारिज नही हो सका.

रक्षा मंत्रालय व प्राधिकरण अधिकारियों को प्रार्थना पत्र रिनोवेट करने को दिया गया था. इसी बीच एक सिविल सूट दायर किया गया, जिसमें याचिकाकर्ता हार गए. इसके बाद कैंट बोर्ड द्वारा भवन को ध्वस्त करने के आदेश पारित कर दिए.

ध्वस्तीकरण आदेश के खिलाफ याचिकाकर्ता द्वारा खंडपीठ के समक्ष विशेष अपील दायर की गई. मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति केएम जोसफ व न्यायमूर्ति वीके बिष्ट की खंडपीठ ने मामले को सुनने के बाद अगली सुनवाई की तिथि दो मार्च नियत कर दी.