बांग्लादेश : जापानी नागरिक की हत्या में शामिल जमातुल मुजाहिदीन के पांच आतंकियों को मृत्युदंड

बांग्लादेश की अदालत ने एक जापानी नागरिक की हत्या में पांच आतंकियों को मंगलवार को मौत की सजा सुनाई है. प्रतिबंधित जमातुल मुजाहिदीन बांग्लादेश (जेएमबी) के आतंकियों ने 2015 में कुनिओ होशी की गोली मारकर हत्या कर दी थी. यह बांग्लादेश में विदेशियों, हिंदुओं और पंथ निरपेक्ष लोगों पर शुरू हुए हमलों में पहली हत्या थी.

डेली स्टार की खबर के अनुसार, रंगपुर की विशेष अदालत के जज नरेश चंद्र सरकार ने कहा, ‘पांचों को मरने तक फांसी पर लटकाए रखा जाए।’ कोर्ट ने आरोप साबित नहीं होने पर दो आरोपियों को बरी कर दिया.होशी मई 2015 में बांग्लादेश आए थे और रंगपुर शहर के बाहरी इलाके में फार्महाउस खोला था. उनकी उसी साल तीन अक्टूबर को नकाबपोश आतंकियों ने हत्या कर दी थी.

इस हमले की आइएस ने जिम्मेदारी ली थी, लेकिन सरकार ने कहा कि इस आतंकी समूह का बांग्लादेश में अस्तित्व नहीं है। रंगपुर के निवासियों ने बताया था कि होशी ने इस्लाम धर्म अपना लिया था। उनकी हत्या में नवंबर 2016 में आठ जेएमबी आतंकियों के खिलाफ आरोपपत्र दाखिल किया गया था। इनमें से पांच रंगपुर की जेल में बंद हैं, जबकि दो सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में मारे जा चुके हैं. एक आतंकी अभी तक पकड़ा नहीं गया है